दादी इतनी किरपा करिये दर पे आवता रवा भजन लिरिक्स

दादी इतनी किरपा करिये,दर पे आवता रवा,मैं तो थारे दरबार से,माँ मांगता रवा।। थोड़ो थोड़ो देवोगा तो,बार बार आवाँगा,दादी थाने मीठा मीठा,भजन सुनावांगा,म्हारी झोली इतनी भरिये,मैं भी बांटता रवा,मैं तो…

Continue Readingदादी इतनी किरपा करिये दर पे आवता रवा भजन लिरिक्स