Skip to content

धूल मिले जो

आजा भवानी एक बार मैं तो कब से खड़ा हूँ तेरे द्वार पर

  • by

आजा भवानी एक बार,मैं तो कब से खड़ा हूँ,तेरे द्वार पर,आजां भवानी एक बार।। अम्बे भवानी दुर्गे भवानी,मुझे आस चरण की,रख लेना मैया लाज हमारी,लागी… Read More »आजा भवानी एक बार मैं तो कब से खड़ा हूँ तेरे द्वार पर