Skip to content

Top 10 Khatu Shyam bhajan lyrics

  • by
0 682

Top 10 Khatu Shyam bhajan lyrics

म्हारे सिर पे है बाबा जी रो हाथ

खाटू वाले रो साथ कोई तोह म्हारे काई करासी
कोई तोह म्हारे काई करासी

जय कोई म्हारे श्याम धनि ने सांचे मन से ध्यावे
काल कपाल श्री सांवरिये के भगत से घबरावे
जे कोई पकड्यो है बाबा जी रो हाँथ कोई तोह बांको काई करासी
म्हारे सर पे है बाबा जी रो हाँथ
खाटू वाले रो साथ कोई तोह म्हारे काई करासी
कोई तोह म्हारे काई करासी

जो आपके विस्वास करे वो कहती तान के सोवे
बैठे प्रवेश करे न कोई बाल न बांका होवे
जानके मन में नहीं है विस्वास बांको तोह बाबा काई करासी
म्हारे सर पे है बाबा जी रो हाँथ
खाटू वाले रो साथ कोई तोह म्हारे काई करासी
कोई तोह म्हारे काई करासी

कलियुग को यो देव बड़ो दुनिया में नाम कमायो
जड़ – जड़ भर पड़ी भगत पर डारयो – डारयो आयो
यो तोह घाट -घाट की जाने सारी बात कोई तोह म्हारो काई करासी
म्हारे सर पे है बाबा जी रो हाँथ
खाटू वाले रो साथ कोई तोह म्हारे काई करासी
कोई तोह म्हारे काई करासी

जब बिन मांगे मिलता तो बोल के क्या मांगू

जब बिन मांगे मिलता तो बोल के क्या मांगू
धन दौलत क्या मांगे मुस्कान है दी तुमने
हमे श्याम प्रेमियों की पहचान है दी तुमने
जब बिन मांगे मिलता तो बोल के क्या मांगू

धन दौलत क्या मांगे मुस्कान है दी तुमने
हमे श्याम प्रेमियों की पहचान है दी तुमने
किस्मत को बनाते हो अरे किस्मत से क्या मांगे
जब बिन मांगे मिलता तो बोल के क्या मांगे

दुःख जो गम की कतार देता है
जिन्दा लोगो को मार देता है
ये तो ऐसा दयालु है
जो अपने दरबार से भक्तो को
जिंदगी भी उधर देता है

बताऊ तो परदे में कब तक रहोगे
तुम्हे रुख से पर्दा हटाना पड़ेगा
स्वीकार करो तुम मेरी ये मोहब्बत
मेरे सामने तुमको आना पड़ेगा
तुझे शौक अगर मेरी बर्बादियों का
मिटाना है तो शौक से मिटा दे
मिटने से पहले जरा सोच ले
मिटा कर तुम्ही को बनाना पड़ेगा

हम देखेंगे तुम कब तक ना सुनोगे
फिर आएगा एक दिन ऐसा जमान
हम रूठेंगे तुम को मानना पड़ेगा
दिल दिमाग पर तस्वीर तेरे याराने की
अब तेरे हवाले है जीवन

ना ज़िन्दगी जीने की मरने को ले जाने की
धन दौलत क्या मांगे मुस्कान है दी तुमने
हमे श्याम प्रेमियों की पहचान है दी तुमने
जब बिन मांगे मिलता तो बोल के क्या मांगू
किस्मत को बनाते हो अरे किस्मत से क्या मांगे
जब बिन मांगे मिलता तो बोल के क्या मांगे

बाबा तू इतना बता दे

श्याम श्याम श्याम मेरे ………2
बाबा हाय………बाबा …
तेरा क्या मुझसे नाता
तू इतना प्यार लुटाता
नहीं मैं क़ाबिल तेरे
तू फिर क्यों साथ निभाता
मुझको प्रभु इतना बता
क्यों माफ़ की मेरी हर खता
ओ बाबा तू इतना बता दे
है बता दे बता दे बता दे बाबा
मुझको क्यों इतनातु चाहे
है बता दे बता दे बाबा

मेरे तो न ऐसे थे करम
तूने किया जो ये रहम
दर्द से भरी थी जिन्दगी
तूने क्यों लगाया मरहम
हो ……मुझसे न छूट बाबा
माया का जहाँ
फिर भी दयालु तूने होक महेबान
मुझको दिया है क्यों सहारा
मुझको प्रभु इतना बता
ओ बाबा तू इतना बता दे
है बता दे बता दे बाबा
मुझको क्यों इतना तु चाहे
है बता दे बता दे बाबा

फिरता रहा मैं दर बदर
आसरा मिला न कही पर
मुझको शरण में ले लिया
सांवरे क्या तूने सोच कर
भूल से लिया न कभी
तेरा नाम रे
फिर भी बाबा तूने
लिया थाम रे
जीवन को मेरे क्यों सवार
मुझको प्रभु इतना बता
ओ बाबा तू इतना बता दे
है बता दे बता दे बाबा
मुझको क्यों इतना तु चाहे
है बता दे बता दे बाबा

तेरी मेरी क्या है दास्तान
कैसे पाया तेरा रास्ता
सदियो पुराण क्यों लगे
मुझे तेरा मेरा वास्ता
सोनू से बाबा तेरा
कैसा नाता है
नेरी गलतियों को
क्यों तू भूल जाता है
बाबा तू इतना क्यों है प्यारा
मुझको प्रभु इतना बता
ओ बाबा तू इतना बता दे
है बता दे बता दे बाबा
मुझको क्यों इतना तु चाहे
है बता दे बता दे बाबा
बाबा हाय ………बाबा …2

तेरा क्या मुझसे नाता
तू इतना प्यार लुटाता
नहीं मैं क़ाबिल तेरे
तू फिर क्यों साथ निभाता
मुझको प्रभु इतना बता
क्यों माफ़ की मेरी हर खता
ओ बाबा तू इतना बता दे
है बता दे बता दे बता दे बाबा
मुझको क्यों इतना तु चाहे
है बता दे बता दे बाबा
बाबा हाय ………बाबा …4

कभी रूठना ना मुझसे तू श्याम सांवरे

कभी रूठना ना मुझसे तू श्याम सांवरे
मेरी ज़िन्दगी है अब तेरे नाम सांवरे
कभी रूठना ना मुझसे तू श्याम सांवरे
मेरी ज़िन्दगी है अब तेरे नाम सांवरे
मेरे सांवरे सवेरा तेरे नाम से
तेरे नाम से ही ज़िन्दगी की श्याम सांवरे
कभी रूठना ना मुझसे तू श्याम सांवरे
मेरी ज़िन्दगी है अब तेरे नाम सांवरे

चिंतन हो सदा इस मन में तेरा
चरणों में तेरे मेरा ध्यान रहे
चाहे दुःख में रहू चाहे सुख में रहु
होठो पे सदा तेरा नाम रहे
तेरे नाम से ही मेरी पहचान है
तेरी सेवा में ही कल्याण है
मेरा रोम रोम तेरा करजई है
तेरे कितने गिनाऊ अहसान सांवरे
कभी रूठना ना मुझसे तू श्याम सांवरे
मेरी ज़िन्दगी है अब तेरे नाम सांवरे

दिल तुमसे लगाना सीखा है
तुमसे ही सीखा याराना
जीवन को सावरा है तुमने
बदले में में दू क्या नज़राना
मैंने दिल हारा ये भी तेरी प्रीत है
मेरी हार में भी श्याम मेरी जीत है
बस दिल की है यही है एक आरज़ू
तुझे दिल का मेहमान बना लू सांवरे
कभी रूठना ना मुझसे तू श्याम सांवरे
मेरी ज़िन्दगी है अब तेरे नाम सांवरे

दुनिया के मैं अब अवगुण क्या देखु
मेरे अवगुण कई हज़ार प्रभु
तुम अवगुण मेरे सब ढक़ लोगे
इतना है मुझे ऐतबार प्रभु
मेरे अवगुणो से नज़रो को फेर लो
अपनी बाहो में प्रभु जी मुझे घेर लो
ऐसी कृपा करो ना इस दास पे
रहे पापो का ना कोई भी निशान सांवरे
कभी रूठना ना मुझसे तू श्याम सांवरे
मेरी ज़िन्दगी है अब तेरे नाम सांवरे

मेरे सांवरे सवेरा तेरे नाम से
तेरे नाम से ही ज़िन्दगी की श्याम सांवरे
कभी रूठना ना मुझसे तू श्याम सांवरे
मेरी ज़िन्दगी है अब तेरे नाम सांवरे

ग्यारस की रात आयी, तुम श्याम को मना लो

ग्यारस की रात आयी
तुम श्याम को मना लो …2
देता है सबको बाबा
श्याम …
देता है सबको बाबा
श्याम …
देता है सबको बाबा
चाहे तो आज़मा लो …2

ग्यारस की रात पावन
और श्याम के मन भावन …2
प्यारे भजन सुनाओ
गन श्याम के तुम गाओ
आएगा कान्हा लिए
छान प्रेम से बुला लो…2

देता है सबको बाबा
श्याम …
देता है सबको बाबा
चाहे तो आज़मा लो
ग्यारस की रात आयी
तुम श्याम को माना लो …2

दर्द ऐ जुदाई का गम
तुम श्याम को सुनना ..2
चरणों में बैठ करके
तुम शीश को झुकना
सुन लेगा श्याम दिल की
तुम भाव से सुना लो …2

देता है सबको बाबा
श्याम …
देता है सबको बाबा
चाहे तो आज़मा लो
ग्यारस की रात आयी
तुम श्याम को मना लो …2

कलियुग में श्याम दानी
है हारे का सहारा …2
जग में न कोई अपना
बस श्याम ही हमारा
हो जायेगा तुम्हारा
अपना इसे बना लो ..2

देता है सबको बाबा
श्याम …
देता है सबको बाबा
चाहे तो आज़मा लो
ग्यारस की रात आयी
तुम श्याम को मना लो …2
ग्यारस की रात आयी
तुम श्याम को मना लो …2

दुनिया से मैं हारा हूँ, तक़दीर का मारा हूँ

दुनिया से मैं हारा हूँ
तक़दीर का मारा हूँ …2

जैसा भी हूँ अपना लो
मैं बालक तुम्हारा हूँ

दुनिया से मैं हारा हूँ
तक़दीर का मारा हूँ …2

जैसा भी हूँ अपना लो
मैं बालक तुम्हारा हूँ

दुनिया से मैं हारा हूँ
तक़दीर का मारा हूँ …2

कीर्तन की है रात बाबा आज थाने आनो है

कीर्तन की है रात बाबा आज थाने आनो है
कीर्तन की है रात बाबा आज थाने आनो है
थाने कोल निभानो है कीर्तन की है रात बाबा
आज थाने आनो है कीर्तन की है रात बाबा

आज थाने आनो है दरबार सावरिया
ऐसो साजो प्यारो दयालु आपको
सेवा में सावरिया सगळा खड़ा दिखे
हुकम बस आपको सेवा में थारी हो मांहे
आज बिछ जानो है अरे कोल निभानो है
कीर्तन की है रात बाबा आज थाने आनो है
कीर्तन की है रात कीर्तन की है तैयारी

कीर्तन करा जम कर प्रभु क्यों देर करो
वादो थारो दाता कीर्तन में आनो को
घडी मत देर करो भजन सुथान मांहे
आज रिझानो है मांहे कोल निभानो है
कीर्तन की है रात बाबा
आज ठाणे आनो है
कीर्तन की है रात

जो कुछ बने महसो अर्पण प्रभु सारो
प्रभु स्वीकार करो नादाँ सु गलती होती ही आई है
प्रभु मत ध्यान धरो नंदू सावरिया थारो
दास पुराणो है अरे कोल निभानो है
कीर्तन की है रात बाबा
आज थाने आनो है
कीर्तन की है रात बाबा
आज थाने आनो है
अरे कोल निभानो है
कीर्तन की है रात बाबा आज
थाने आनो है कीर्तन की है रात

जगत के रंग क्या देखूं तेरा दीदार काफी है

जगत के रंग क्या देखूं तेरा दीदार काफी है।
क्यों भटकूँ गैरों के दर पे तेरा दरबार काफी है॥

नहीं चाहिए ये दुनियां के निराले रंग ढंग मुझको,
निराले रंग ढंग मुझको
चली जाऊँ मैं वृंदावन
चली जाऊँ मैं वृंदावन तेरा श्रृंगार काफी है
जगत के रंग क्या देखूं तेरा दीदार काफी है

जगत के साज बाजों से हुए हैं कान अब बहरे
हुए हैं कान अब बहरे
कहाँ जाके सुनूँ बंशी
कहाँ जाके सुनूँ बंशी मधुर वो तान काफी है
जगत के रंग क्या देखूं तेरा दीदार काफी है

जगत के रिश्तेदारों ने बिछाया जाल माया का
बिछाया जाल माया का
तेरे भक्तों से हो प्रीति
तेरे भक्तों से हो प्रीति श्याम परिवार काफी है
जगत के रंग क्या देखूं तेरा दीदार काफी है

जगत की झूटी रौनक से हैं आँखें भर गयी मेरी
हैं आँखें भर गयी मेरी
चले आओ मेरे मोहन
चले आओ मेरे मोहन दरश की प्यास काफी है
जगत के रंग क्या देखूं तेरा दीदार काफी है
क्यों भटकूँ गैरों के दर पे तेरा दरबार काफी है

सांवरा जब मेरे साथ है, हमको डरने की क्या बात है।

सांवरा जब मेरे साथ है,
हमको डरने की क्या बात है।
इसके रहते कोई कुछ कहे,
बोलो किसकी यह औकात है॥

छाये काली घटाए तो क्या,
इसकी छतरी के नीचे हूँ मैं।
आगे आगे यह चलता मेरे,
मेरे मालिक के पीछे हूँ मैं।
इसने पकड़ा मेरा हाथ है,
मुझको डरने की क्या बात है॥

इसकी महिमा का वर्णन करू,
मेरी वाणी में वो दम नहीं।
जब से इसका सहारा मिला,
फिर सताए कोई गम नहीं।
बाबा करता करामत है,
हमको डरने की क्या बात है॥

क्यों मैं भटकू यहाँ से वहां,
इसके चरणों में है बैठना।
झूठे स्वार्थ के रिश्ते सभी,
कन्हैया से है रिश्ता बना।
ये करता मुलाकात है,
हमको डरने की क्या बात है॥

जहां आनद की लगती झड़ी,
ऐसी महफ़िल सजाता है ये।
‘बिन्नू’ क्यों ना दीवाना बने,
ऐसे जलवे दिखाता है ये।
दिल चुराने में विख्यात है,
हमको डरने की क्या बात है॥

म्हाने खाटू में बुलाले बाबा श्याम

म्हाने खाटू में बुलाले बाबा श्याम……3
आयो मेलो फागण को

कई दिन सु मन में लागि जावा खाटू धाम……2
एक एक दिन गिन गिन कर काटा किया दिखे श्याम
म्हाने खाटू में बुलाले बाबा श्याम……2
आयो मेलो फागण को

फागण मास रंगीलो थारे भागता के मन भावे…2
खाटू के मेले के माहि नाच कूदता आवे
म्हाने खाटू में बुलाले बाबा श्याम……2
आयो मेलो फागण को

श्याम धनि सु आश धनि यो भागता रो प्रतिपल…2
मेहर करो सेवक के ऊपर दर्शन दो हर साल
म्हाने खाटू में बुलाले बाबा श्याम……2
आयो मेलो फागण को

आलूसिंघ पर किरपा थारी रोज करे श्रृंगार…2
केसर तिलक लगावे थारे इत्तर की भरमार
बाबा ‘संजू’ ने बुलाले खाटूधाम,
आयो मेलो फागण को

म्हाने खाटू में बुलाले बाबा श्याम……2
आयो मेलो फागण को
म्हाने खाटू में बुलाले बाबा श्याम……3
आयो मेलो फागण को

Khatu Shyam, Sanjay Mittal bhajans lyrics, Khatu Shyam, Sanju Sharma bhajans lyrics, Shri Khatu Shyam Bhajan, Khatu Shyam lyrics in hindi , Sanju Sharma, Shri Khatu Shyam Bhajan, Ajay Sharma, Khatu Shyam, Shri Khatu Shyam Bhajan, :Khatu Shyam, Sheetal Pandey, Shri Krishna Bhajan, Khatu Shyam, Sanju Sharma, Shri Krishna Bhajan, Khatu Shyam Bhajan, Krishan Bhajan latest bhajans lyrics hindi me

Leave a Reply

Your email address will not be published.