Skip to content

Top 10 Ganesh bhajan lyrics

  • by
0 693

Top 10 Ganesh bhajan lyrics

हम नैन बिछाए है हे गणपति आ जाओ

.
हम नैन बिछाए है,
हे गणपति आ जाओ।।

गणपति तुम हो बड़े दयालु,
किरपा कर दो हे किरपालु,
हर सांस बुलाए है,
हे गणपति आ जाओ,
हम नैन बिछाए,
हे गणपति आ जाओ।।

पाप की गठरी सर पे भारी,
हम को है बस आस तुम्हारी,
बड़ा मन घबराए है,
हे गणपति आ जाओ,
हम नैन बिछाए है,
हे गणपति आ जाओ।।

जग से हमने तोडा नाता,
गणपति तुमसे जोड़ा नाता,
तुझे नैना निहारे है,
हे गणपति आ जाओ,
हम नैन बिछाए हैं,
हे गणपति आ जाओ।।

माथे पर सिंदूर है प्यारा,
पीताम्बर है तन पर धारा,
सब आस लगाए है,
हे गणपति आ जाओ,
हम नैन बिछाए हैं,
हे गणपति आ जाओ।।

रिध्दि सिध्धि के दाता सुनो गणपति

.
श्लोक -: सारी चिंता छोड़ दो,
चिंतामण के द्वार,
बिगड़ी बनायेंगे वही,
विनती कर स्वीकार,
बड़े बड़े कारज सभी,
पल मे करे साकार,
बड़े गणपति का है साथ,
सच्चा ये दरबार,
सिध्द हो हर कामना,
सिध्दिविनायक धाम,
खजराना मे आन बसे मेरे,
शिव गौरी के लाल॥

रिध्दि सिध्धि के दाता सुनो गणपति,
आपकी मेहरबानी हमें चाहिये,
पहले सुमिरन करूँ गणपति आपका,
लब पे मीठी सी वाणी हमें चाहिये,
रिध्दि सिध्धि के दाता सुणो गणपति॥

सर झुकाता हूँ चरणों मे सुन लीजिये,
आज बिगड़ी हमारी बना लीजिये,
ना तमन्ना है धन की ना सर ताज की,
तेरे चरणों की सेवा हमें चाहिये,
रिध्दि सिध्धि के दाता सुणो गणपति॥

तेरी भक्ति का दील मे नशा चूर हो,
बस आँखो मे बाबा तेरा नूर हो,
कण्ठ पे शारदा माँ हमेशा रहे,
रिध्धि सिध्धि का वर ही हमें चाहिये,
रिध्दि सिध्धि के दाता सुनो गणपति॥

सारे देवों मे गुणवान दाता हो तुम,
सारे वेदों मे ज्ञानो के ज्ञाता हो तुम,
ज्ञान देदो भजन गीत गाते रहे,
बस यही ज़िन्दगानी हमें चाहिये,
रिध्दि सिध्धि के दाता सुनो गणपति॥

रिध्दि सिध्धि के दाता सुनो गणपति,
आपकी मेहरबानी हमें चाहिये,
पहले सुमिरन करूँ गणपति आपका,
लब पे मीठी सी वाणी हमें चाहिये,
रिध्दि सिध्धि के दाता सुणो गणपति॥

म्हारा कीर्तन मे रस बरसाओ

.

म्हारा कीर्तन मे रस बरसाओ बरसाओ
आओ जी गजानन आओ।

म्हारा कीर्तन मे रस बरसाओ बरसाओ
आओ जी गजानन आओ।

ॐ गण गणपतये नमो नमः
श्री सिद्धिविनायक नमो नमः
अष्टविनायक नमो नमः
गणपती बाप्पा मोरया

रणत भंवर से आओ जी गजानन
रिद्धि सिद्धि ने संग प्रभु लाओ।
आओ जी गजानन आओ

पार्वती के पुत्र गजानन,
भोले शंकर के मन भाओ।
आओ जी गजानन आओ

हम सबके प्रभु गणपति न्यारे,
सब हर्ष हर्ष गुण गाओ गुण गाओ।
आओ जी गजानन आओ

बिगड़ी तेरी बनाएगा नाम गणपति

.

बिगड़ी तेरी बनाएगा,
नाम गणपति का,
संकट सभी मिटाएगा,
नाम गणपति का,
बिगड़ी बनाएगा,
संकट मिटाएगा,
कष्ट ना कभी तू पायेगा,
जो मन से तू गाएगा,
नाम गणपति का,
बिगड़ी तेरी बनाएगा,
नाम गणपति का।।

मंगल मूरत मंगल कर दो,
सुख समृद्धि का हमको वर दो,
हाथ दया का सर पर धर दो,
भक्ति अपनी आठों पहर दो,
चलने को हमें सत्य डगर दो,
महिमा गाने को लय स्वर दो,

जब भी उसे बुलाएगा,
जब भी उसे बुलाएगा,
देरी नहीं लगाएगा,
चमत्कार दिखलायेगा,
नाम गणपति का,
बिगड़ी तेरी बनायेगा,
नाम गणपति का।।

विध्न हरण मंगल के दाता,
पिता सदाशिव गिरिजा माता,
पहले तुम्ही को पूजा जाता,
तुम हो सबके भाग्य विधाता,
पैन पुष्प मोदक तुम्हे भाता,
कमला सरल तेरे गुण गाता,

मन में उन्हें बसाएगा,
मन में उन्हें बसाएगा,
करने दया वो आएगा,
नैया पार लगाएगा,
नाम गणपति का,
बिगड़ी तेरी बनायेगा,
नाम गणपति का।।

बिगड़ी तेरी बनाएगा,
नाम गणपति का,
संकट सभी मिटाएगा,
नाम गणपति का,
बिगड़ी बनाएगा,
संकट मिटाएगा,
कष्ट ना कभी तू पायेगा,
जो मन से तू गाएगा,
नाम गणपति का,
बिगड़ी तेरी बनाएगा,
नाम गणपति का।।

तेरे द्वार खड़ा भगवान भगत भर दे रे झोली

.

तेरे द्वार खड़ा भगवान हो,
तेरे द्वार खड़ा भगवान,
भगत भर दे रे झोली।।

तेरा होगा बड़ा एहसान,
कि जुग जुग तेरी रहेगी शान,
भगत भर दे रे झोली,
तेरे द्वारे खड़ा भगवान,
भगत भर दे रे झोली,
ओ भगत भर दे रे झोली।।

डोल उठी है सारी धरती देख रे,
डोला गगन है सारा,
भीख मांगने आया तेरे घर,
जगत का पालनहारा रे,
जगत का पालनहारा,
मै आज तेरा मेहमान,
कर ले रे मुझसे ज़रा पहचान
भगत भर दे रे झोली,
तेरे द्वारे खड़ा भगवान,
भगत भर दे रे झोली,
ओ भगत भर दे रे झोली।।

आज लुटा दे रे सर्वस्व अपना,
मान ले कहना मेरा,
मिट जायेगा पल मे तेरा,
जनम-जनम का फेरा रे,
जनम-जनम का फेरा,
तू छोड़ सकल अभिमान,
अमर कर ले रे तू अपना दान,
भगत भर दे रे झोली,
तेरे द्वार खड़ा भगवान,
भगत भर दे रे झोली।।

तेरे द्वार खड़ा भगवान हो,
तेरे द्वारे खड़ा भगवान,
भगत भर दे रे झोली।।

तेरी जय हो गणेश तेरी जय हो गणेश

.

तेरी जय हो गणेश तेरि जय हो गणेश,
तेरि जय हो गणेश तेरि जय हो गणेश॥॥

श्लोक-प्रथमे गौरा जी को वंदना,
द्वितीये आदि गणेश,त्रितिये सुमीरु शारदा,
मेरे कारज करो हमेश॥॥

तेरी जय हो गणेश तेरि जय हो गणेश,
तेरि जय हो गणेश तेरि जय हो गणेश॥॥

किस जननी ने तुझे जनम दियो है,
किस जननी ने तुझे जनम दियो है,
किसने दियो उपदेश,
तेर्री जय हो गणेश तेरि जय हो गणेश॥॥

माता गौरा ने तेनू जनम दियो है,
माता गौरा ने तेनू जनम दियो है,
शिव ने दियो उपदेश,
तेर्री जय हो गणेश तेर्री जय हो गणेश॥॥

कारज पूरण कदहि होवे,
कारज पूरण कदहि होवे,
गणपति पूजो जी हमेश,
तेर्री जय-हो गणेश तेर्री जय हो गणेश॥॥

तेर्री जय-हो गणेश तेर्री जय हो गणेश,
तेर्री जय हो गणेश तेरि जय हो गणेश॥॥

घर मे पधारौ गजानँद जी

.

घर मे पधारौ गजानँद जी मेरे घर मे पधारौ,
रिध्धी सिध्धी लेके आओ गणराजा,
मेरे घर मे पधारौ॥॥

राम जी आना लक्ष्मण जी आना,
संग मे लाना सीता मैया, मेरे घर मे पधारौ॥॥

ब्रम्हा जी आना विष्णु जी आना,
भोले शंकर को ले आना, मेरे घर मे पधारौ॥॥

लक्ष्मी जी आना गौरी जी आना,
सरस्वती मैया को ले आना, मेरे घर मे पधारौ॥

विघ्न को हरना, मंगल करना,
कारज शुभ कर जाना, मेरे घर मे पधारौ॥॥

घर मे पधारौ गजानँद जी मेरे घर मे पधारौ,
रिध्धी सिध्धी लेके आओ गणराजा,
मेरे घर मे पधारौ॥॥

गौरी के नंदन की हम पूजा करते है

.

गौरी के नंदन की,
हम पूजा करते है,
हम पूजा करते है,
हम वंदन करते है,
गौरी के नंदन की,
हम पूजा करते है।।

शुभ कारज से पहले,
तेरा ध्यान जो धरते है,
कोई संकट आए तो,
तुम रक्षा करते हो,
इस संकट हारे की,
हम पूजा करते है,
गौरी के नन्दन की,
हम पूजा करते है।।

है धन्य वो गौरी माँ,
जिसने तुम्हे जनम दिया,
भोले भंडारी ने,
तुमको वरदान दिया,
शंकर के दुलारे की,
हम पूजा करते है,
गौरी के नन्दन की,
हम पूजा करते है।।

विघ्नों के हर्ता तुम,
मंगल के दाता हो,
भक्तो के लिए भगवन,
मेरे भाग्य विधाता हो,
इस पालनहारे की,
हम पूजा करते है,
गौरी के नन्दन की,
हम पूजा करते है।।

गौरी के नंदन की,
हम पूजा करते है,
हम पूजा करते है,
हम वंदन करते है,
गौरी के नन्दन की,
हम पूजा करते है।।

गणपति राखो मेरी लाज पुरण कीजो

.

गणपति रखो मेरी लाज
पुराण कीजो मेरे काज

गणपति रखो मेरी लाज
पुराण कीजो मेरे काज

तू भक्तो का प्यारा है
सबका पालन हार है
सुख दयाक भाये हरी तू
करता मूषक सवारी तू

तू ही विघ्न विनाशक है
दीं जानो का रक्षक है
तेरा ही हम नाम जापे
तुझको हम प्रणाम करे

सदा रहे खुशहाल गणपति लाल
जो प्रथम में तुम्हे ध्याये

रिद्धि सिद्धि के दाता ओ भाग्य विधाता
वो सब कुछ तुमसे पाए

विनती सुनलो मेरी आज
विनती सुनलो मेरी आज
गणपति रखो मेरी लाज

पूरण कीजो मेरे काज
गणपति रखो मेरी लाज

कभी ना टूटे आस मेरा विश्वाश
मैं आया शरण तुम्हारी
हे शम्भू कैलाश प्रभु कृपाल
तेरी है महिमा न्यारी

तेरी दया का मैं मोहताज
तेरी दया का मैं मोहताज
गणपति रखो मेरी लाज

गणपति रखो मेरी लाज
पूरण कीजो मेरे काज
गणपति रखो मेरी लाज

गणपति जी गणेश नू मनाइये

.

गणपति जी गणेश नू मनाइये,
सारे काम रास होणगे,
हर काम नाल पहला ही धियाइये,
सारे काम रास होणगे,
गणपति जी गणेश नू ध्याइये,
सारे काम रास होणगे,
सारे काम रास होणगे।।

गौरा माँ दा मान है गणपत,
शिव जी दा वरदान है गणपत,
पेहला लड्डूवा दा भोग लगाइये,
सारे काम रास होणगे,
गणपति जी गणेश नू ध्याइये,
सारे काम रास होणगे।।

गणपति वरगा देव ना दूजा,
सबतो पहले होणदि पूजा,
गजमुख जी गुण सारे गाइये,
सारे काम रास होणगे,
गणपति जी गणेश नू मनाईये,
सारे काम रास होणगे।।

चमका मारे सोहणा वेशे,
कुण्डला वाले काले केशे,
धूल मत्थे नाल चरणा दी लाइये,
सारे काम रास होणगे,
गणपति जी गणेश नू मनाइये,
सारे काम रास होणगे।।

गणपति जी गणेश नू मनाइये,
सारे काम रास होणगे,
हर काम नाल पहला ही धियाइये,
सारे काम रास होणगे,
गणपति जी गणेश नू ध्याइये,
सारे काम रास होणगे,
सारे काम रास होणगे।।

Leave a Reply

Your email address will not be published.