Tere Mere Darmiyan Lyrics – Khesari Lal Yadav

Hindi Lyrics तेरे मेरे दरमियाँ Tere Mere Darmiyan Lyrics – Khesari Lal Yadav
HindiTracks Tere Mere Darmiyan Lyrics in Hindi, sung by Khesari Lal Yadav. This song is written by Anupam Panday and composed by Vinay Vinayak. Starring Khesari Lal Yadav and Neha Malik.

Current song Details
Song Title Tere Mere Darmiyan
Singer Khesari Lal Yadav
Lyrics Anupam Panday
Music Vinay Vinayak
Music Label Speed Records

Tere Mere Darmiyan Lyrics in Hindi

कुछ तो है बाकि
तेरे मेरे दरमियाँ
वरना ना दिल परेशान होता
काश हम भी होते
तुम हो जहा वहां
फिर कुछ अलग सा
ये जहाँ होता

कुछ तो है बाकि
तेरे मेरे दरमियाँ
वरना ना दिल परेशान होता

काश हम भी होते
तुम हो जहा वहां
फिर कुछ अलग सा
ये जहाँ होता

मेरी मंज़िलें मक़सूद तू
अब आ भी जा मेरे रूबरू

कुछ तो है बाकि
तेरे मेरे दरमियाँ
वरना ना दिल परेशान होता

कैसे भुला दूँ मैं
साँसों की ओह खुसबू
जिसकी तलब दिल को
है आज भी

क्यूँ ऐसा लगता है
तन्हा सी रातों में
मुझ बिन तड़पती है
अक्सर तू भी

कैसे भुला दूँ मैं
साँसों की ओह खुसबू
जिसकी तलब दिल को
है आज भी

क्यूँ ऐसा लगता है
तन्हा सी रातों में
मुझ बिन तड़पती है
अक्सर तू भी

मुझे ढूंढ़ती तेरी नज़र
मुझमे है तू शाम ओ सहर

कुछ तो है बाकि
तेरे मेरे दरमियाँ
वरना ना दिल परेशान होता

काश हम भी होते
तुम हो जहा वहां
वरना ना दिल परेशान होता

Music Video of Tere Mere Darmiyan:

Tere Mere Darmiyan Lyrics English

Kuch toh hai baki
Tere mere darmiyan
Warna na dil pareshan hota
Kash hum bhi hote
Tum ho jaha wahan
Phir kuch alag sa
Ye jahan hota

Kuch toh hai baki
Tere mere darmiyan
Warna na dil pareshan hota

Kash hum bhi hote
Tum ho jaha wahan
Phir kuch alag sa
Ye jaha hota

Meri manzilein maqsood tu
Ab aa bhi jaa mere rubaru

Kuch toh hai baki
Tere mere darmiyan
Warna na dil pareshan hota

Kaise bhula doon main
Saanson ki oh khusboo
Jiski talaab dil ko
Hai aaz bhi

Kyun aisa lagta hai
Tanha si raaton mein
Mujh bin tadapti hai
Aksar tu bhi

Kaise bhula doon main
Saanson ki oh khusboo
Jiski talaab dil ko
Hai aaj bhi

Kyun aisa lagta hai
Tanha si raaton mein
Mujh bin tadapti hai
Aksar tu bhi

Mujhe dhundti teri nazar
Mujhme hai tu shaam o saher

Kuch toh hai baki
Tere mere darmiyan
Warna na dil pareshan hota

Kash hum bhi hote
Tum ho jaha wahan
Warna na dil pareshan hota

Leave a Reply