है उनकी वह निगाहें Haay Unki Woh Nigaahe Lyrics in Hindi from Aakhri Dao

Haay Unki Woh Nigaahe Lyrics in Hindi. है उनकी वह निगाहें song from Aakhri Dao.

Song Name : Haay Unki Woh Nigaahe
Album / Movie : Aakhri Dao
Star Cast : Nutan, Shekhar, Jeevan
Singer : Asha Bhosle
Music Director : Madan Mohan Kohli
Lyrics by : Majrooh Sultanpuri
Music Label : Saregama

Haay Unki Woh Nigaahe Lyrics in Hindi :

है उनकी वह निगाहें
दिल देखे जिनकी राहे
कोई उनसे जाके पूछे
हम क्यों न उन्हें चाहे
है उनकी वह निगाहें
दिल देखे जिनकी राहे
कोई उनसे जाके पूछे
हम क्यों न उन्हें चाहे
है उनकी वह निगाहें
हे हे हे

जिस दिन हम पहले पहले
रूठे थे उनसे मिलके
जिस दिन हम पहले पहले
रूठे थे उनसे मिलके
उस दिन भी चुपके चुपके
कहते थे हम यह दिल से
वह दिल भी कोई दिल है
जिस में प्यार नहीं
है उनकी वह निगाहें
दिल देखे जिनकी राहे
कोई उनसे जाके पूछे
हम क्यों न उन्हें चाहे
है उनकी वह निगाहें
हे हे हे

जैसे झुकाते ही झुकाते
उठ जाती है यह पलकें
जैसे झुकाते ही झुकाते
उठ जाती है यह पलकें
जैसे लेहरा लेहराके
रुक जाती है यह जुल्फ़ें
यूँ समझो हम को
भी यु ही करार नहीं
है उनकी वह निगाहें
दिल देखे जिनकी राहे
कोई उनसे जाके पूछे
हम क्यों न उन्हें चाहे
है उनकी वह निगाहें
हे हे हे

यह बलखाते से रस्ते
यह मतवाली सी बस्ती
यह बलखाते से रस्ते
यह मतवाली सी बस्ती
हरसू नगमे ही नगमे
हरसू मस्ती ही मस्ती
मिल जाती इसमे मेरी
भी बहार कही
है उनकी वह निगाहें
दिल देखे जिनकी राहे
कोई उनसे जाके पूछे
हम क्यों न उन्हें चाहे
है उनकी वह निगाहें
हे हे हे.

Haay Unki Woh Nigaahe Lyrics in English :

Haay unki woh nigaahe
Dil dekhe jinaki raahe
Koyi unase jaake puchhe
Hum kyun na unhein chaahe
Haay unki woh nigaahe
Dil dekhe jinaki raahe
Koyi unase jaake puchhe
Hum kyun na unhein chaahe
Haay unki woh nigaahe
He he he

Jis din hum pehale pehale
Ruthe the unase milake
Jis din hum pehale pehale
Ruthe the unase milake
Uss din bhi chupake chupake
Kehate the hum yeh dil se
Woh dil bhi koyi dil hai
Jis me pyaar nahi
Haay unki woh nigaahe
Dil dekhe jinaki raahe
Koyi unase jaake puchhe
Hum kyun na unhein chaahe
Haay unki woh nigaahe
He he he

Jaise jhukate hi jhukate
Uth jaati hai yeh palake
Jaise jhukate hi jhukate
Uth jaati hai yeh palake
Jaise lehara leharaake
Ruk jaati hai yeh julfein
Yun samajho ham ko
Bhi yu hi karaar nahi
Haay unki woh nigaahe
Dil dekhe jinaki raahe
Koyi unase jaake puchhe
Hum kyun na unhein chaahe
Haay unki woh nigaahe
He he he

Yeh balkhaate se raste
Yeh matwaali si basti
Yeh balkhaate se raste
Yeh matwaali si basti
Harsu nagame hi nagame
Harsu masti hi masti
Mil jaati isame meri
Bhi bahaar kahi
Haay unki woh nigaahe
Dil dekhe jinaki raahe
Koyi unase jaake puchhe
Hum kyun na unhein chaahe
Haay unki woh nigaahe
He he he.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *