बड़ी मुश्किल से हम समझे Badi Mushkil Se Hum Samjhe Lyrics in Hindi from Zindagi Ya Toofan

Badi Mushkil Se Hum Samjhe Lyrics in Hindi. बड़ी मुश्किल से हम समझे song from Zindagi Ya Toofan.
Song Name : Badi Mushkil Se Hum Samjhe
Album / Movie : Zindagi Ya Toofan
Star Cast : Pradeep Kumar, Nutan, Om Parkesh, Johny Walker
Singer : Asha Bhosle, Shamshad Begum
Music Director : Shakat Ali Dehlavi (Nashad)
Lyrics by : Nakhshab Jarchavi
Music Label : Saregama

Badi Mushkil Se Hum Samjhe Lyrics in Hindi :

बड़ी मुश्किल से हम समझे
हमसे वो क्या समझते है
जो अचे है वो हर इंसान को
अच्छा समझते है
ये है किस्मत मुझे वो
अपना दीवाना समझते है
ये है किस्मत मुझे वो
अपना दीवाना समझते है
इनायत है नवाजिस है
अगर ऐसा समझते है
इनायत है नवाजिस है
अगर ऐसा समझते है
ये है किस्मत मुझे वो
अपना दीवाना समझते है

जो कहना था नजर मिलते ही
दिल से कह चुकी नजरे
बहुत चाहा बहुत रोका
न रोके से रुकी नजरे
यका यक किसलिये व मुस्कुराये
क्यों झुकी नजर
यका यक किसलिये व मुस्कुराये
क्यों झुकी नजर
भरी महफ़िल है लेकिन ये
हम तनहा समझते है
भरी महफ़िल है लेकिन ये
हम तनहा समझते है
इनायत है नवाजिस है
अगर ऐसा समझते है

तमन्ना अरे तमन्ना जो न
हो पूरी अरे तौबा
तुम्हारे दिल से कुर्बत
आँख से दुरी अरे तौबा
मोहब्बत बंदि ये मज़बूरी
अरे तौबा
मोहब्बत की ये हद बंदी
ये मज़बूरी अरे तौबा
के ये भी कह नहीं सकते
तुम्हे हम क्या समझते है
के ये भी कह नहीं सकते
तुम्हे हम क्या समझते है
इनायत है नवाजिस है
अगर ऐसा समझते है

नसीबो की खराबी है
के तुमसे पड़ गया पाला
मिला होगा तुम्हे कहा को
ऐसा चाहने वाला
उधर तुमने समझ कर
हमको बेगाना मिटा डाला
उधर तुमने समझ कर
हमको बेगाना मिटा डाला
इधर हम है के हम
फिर भी तुम्हे अपना समझते है
इधर हम है के हम
फिर भी तुम्हे अपना समझते है
ये है किस्मत मुझे वो
अपना दीवाना समझते है
इनायत है नवाजिस है
अगर ऐसा समझते है.

Badi Mushkil Se Hum Samjhe Lyrics in English :

Badi mushkil se hum samjhe
Hamse wo kya samjte hai
Jo ache hai wo har insan ko
Acha samjhte hai
Ye hai kismat mujhe wo
Apna deewana samjhte hai
Ye hai kismat mujhe wo
Apna deewana samjhte hai
Inayat hai nawazis hai
Agar aisa samjhte hai
Inayat hai nawazis hai
Agar aisa samjhte hai
Ye hai kismat mujhe wo
Apna deewana samjhte hai

Jo kahna tha najar milte hi
Dil se kah chuki najre
Bahut chaha bahut roka
Na roke se ruki najre
Yaka yak kisliye wo muskuraye
Kyu jhuki najre
Yaka yak kisliye wo muskuraye
Kyu jhuki najre
Bhari mahfil hai lekin ye
Hami tanha samjhte hai
Bhari mahfil hai lekin ye
Hami tanha samjhte hai
Inayat hai nawazis hai
Agar aisa samjhte hai

Tamanna are tamanna jo na
Ho puri are tauba
Tumhare dil se kurbat
Aankh se duri are tauba
Mohabbat bandi ye majburi
Are tauba
Mohabbat ki ye had bandi
Ye majburi are tauba
Ke ye bhi kah nahi sakte
Tumhe hum kya samjhte hai
Ke ye bhi kah nahi sakte
Tumhe hum kya samjhte hai
Inayat hai nawazis hai
Agar aisa samjhte hai

Nasibo ki kharabi hai
Ke tumse pad gaya pala
Mila hoga tumhe kaha ko
Aisa chahne wala
Udhar tumne samjh kar
Hamko begana mita dala
Udhar tumne samjh kar
Hamko begana mita dala
Idhar hum hai ke hum
Fir bhi tumhe apna samjhte hai
Idhar hum hai ke hum
Fir bhi tumhe apna samjhte hai
Ye hai kismat mujhe wo
Apna deewana samjhte hai
Inayat hai nawazis hai
Agar aisa samjhte hai.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *