तेरी सूरत से नहीं मिलती किसी की सूरत Teri Surat Se Nahi Milati Kisi Ki Surat Lyrics in Hindi from Ziddi

Teri Surat Se Nahi Milati Kisi Ki Surat Lyrics in Hindi. तेरी सूरत से नहीं मिलती किसी की सूरत song from Ziddi.

Song Name : Teri Surat Se Nahi Milati Kisi Ki Surat
Album / Movie : Ziddi
Star Cast : Joy Mukherjee, Asha Parekh, Shobha Khote, Mehmood, Ulhas, Dhumal, Raj Mehra, Sulochana, Nazima, Mumtaz Begum
Singer : Mohammed Rafi
Music Director : Sachin Dev Burman
Lyrics by : Hasrat Jaipuri
Music Label : Saregama

Teri Surat Se Nahi Milati Kisi Ki Surat Lyrics in Hindi :

तेरी सूरत से नहीं मिलती किसी की सूरत
तेरी सूरत से नहीं मिलती किसी की सूरत
हम जहाँ में तेरी तस्वीर लिए फिरते है
तेरी सूरत से नहीं मिलती किसी की सूरत

खूब चेहरा है तेरा दोनों जहा है पागल
सामने तेरे है फिका वो हसीं ताजमहल
तेरी जुल्फों ने सनम दिल मेरा बांध लिया
तूने ए जाने सितम प्यार का जाम दिया
जुल्फ की हम जवा जञ्जीर लिए फिरते है
तेरी सूरत से नहीं मिलती किसी की सूरत
हम जहाँ में तेरी तस्वीर लिए फिरते है
तेरी सूरत से नहीं मिलती किसी की सूरत

ये तो दुनिआ है यहाँ एक अनहि लहक हसि
जो ऐडा देखि है तुझमे वो किसी में भी नहीं
सामने तेरा जब होगा तो क़यामत भी होगी
आँख जब तुझसे मिलेगी तो मोहब्बत की होगी
प्यार की हम अज़ाब रासीर लिए फिरते है
तेरी सूरत से नहीं मिलती किसी की सूरत
हम जहाँ में तेरी तस्वीर लिए फिरते है
तेरी सूरत से नहीं मिलती किसी की सूरत

चांदनी रात भी ज़ालिम तेरी परछाई है
और सूरज ने तेरे गालों से चमक पायी है
अगर तुझे देख ले कश्मीर तो शरमा जाये
और फरिस्ता जो अगर देख ले ललचा जाये
हम नए रंग की एक हीर लिए फिरते है
तेरी सूरत से नहीं मिलती किसी की सूरत
हम जहाँ में तेरी तस्वीर लिए फिरते है
तेरी सूरत से नहीं मिलती किसी की सूरत.

Teri Surat Se Nahi Milati Kisi Ki Surat Lyrics in English :

Teri surat se nahi milati kisi ki surat
Teri surat se nahi milati kisi ki surat
Hum jaha me teri taswir liye firte hai
Teri surat se nahi milati kisi ki surat

Khub chehra hai tera dono jaha hai pagal
Samne tere hai fika wo hasi tajmahal
Teri julfo ne sanam dil mera bandh liya
Tune aye jane sitam pyar ka jam diya
Julf ki hum jawa janjir liye firte hai
Teri surat se nahi milti kisi ki surat
Hum jaha me teri taswir liye firte hai
Teri surat se nahi milati kisi ki surat

Ye to dunia hai yaha ek anhi lahk hasi
Jo ada dekhi hai tujhme wo kisi me bhi nahi
Samna tera jab hoga to qyamat bhi hogi
Aankh jab tujhse milegi to mohabbat ki hogi
Pyar ki hum azab rasir liye firte hai
Teri surat se nahi milati kisi ki surat
Hum jaha me teri taswir liye firte hai
Teri surat se nahi milati kisi ki surat

Chandni rat bhi jalim teri parchayi hai
Or suraj ne tere galo se chamak payi hai
Agar tujhe dekh le kashmir to sarma jaye
Or farista jo agar dekh le lalcha jaye
Hum naye rang ki ek heer liye firte hai
Teri surat se nahi milati kisi ki surat
Hum jaha me teri taswir liye firte hai
Teri surat se nahi milati kisi ki surat.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *