तारों की छांव तले Taron Ki Chhaon Tale Lyrics in Hindi from Zarak Khan

Taron Ki Chhaon Tale Lyrics in Hindi. तारों की छांव तले song from Zarak Khan.
Song Name : Taron Ki Chhaon Tale
Album / Movie : Zarak Khan
Star Cast : Jairaj, Chitra, Tiwari, Kumud
Singer : Mohammed Rafi, Suman Kalyanpur
Music Director : Mohinder Singh Sarna
Lyrics by : Anand Bakshi
Music Label : Saregama

Taron Ki Chhaon Tale Lyrics in Hindi :

तारों की छांव तले
शम्मा परवाने मिले
होया क़ुर्बान मेरी जान
मिले दिल से दिल जले
तारों की छांव तले
शम्मा परवाने मिले
हाय तारों की छांव तले
शम्मा परवाने मिले

हुस्न के अंदाज़ है
मशुर जहा में
में हसीं हु इसलिए है
नूर जहाँ में
देख के मुझको किसी
शायर ने कहा था
उतरी है अस्मा से
कोई नर जहा में
अरे तूने सुना ही नहीं
फिर अपना फ़साना
अरे इश्क जिसे चाहे
बना डाले दीवाना
हो देख के मुझको
तो भी तूने कहा था
तेरे लिए छोड़ दू में
सारा ज़माना
चलता कोई ज़ोर नहीं शोख़
निगाहो का हसीं राग
जब चले
तारों की छांव तले
शम्मा परवाने मिले

दिल से मेरी आज निकालो
तो कहु में
बढ़ती धड़कनों को
छुपा लो तो कहु में
देख लिया मैंने तुम्हे
मस्त नज़र से
डगमगाते पाव सम्भालो
तो कहु में
अरे तेरी निगाहो को
कहा जाम हमहि ने
चर्चे किये तेरे
सुबह शाम हमहि ने
क्या तू है और क्या तेरी
यह मस्त अदाएं
तुझको हसीना का
दिया नाम हमहि ने
थाम ले महताब जिगर
रूखत ये नक़ाब
अगर छोड़ के गयी
तारों की छांव तले
शम्मा परवाने मिले

जाने जहा शम्मा इ
महफ़िल बना दिया
ाजी हमने तुम्हे प्यार के
काबिल बना दिया
हम जो न होते तो तुम्हे
कौन पूछता
हमको दुआए दो तुम्हे
कातिल बना दिया
सुन ज़रा ओ बेखबर
क्या तुझको खबर है
ज़िन्दगी तेरी तो मेरी
एक नज़र है
मान लिया इश्क़ भी है
एक कयकेश
हुस्न से लगता तो
क़यामत को भी डर है
जगाता परवाना करे
दिल जल जल जल के
मरे शम्मा जब जल
तारों की छांव तले
शम्मा परवाने मिले
होया क़ुर्बान मेरी जान
मिले दिल से दिल जले
तारों की छांव तले
शम्मा परवाने मिले.

Taron Ki Chhaon Tale Lyrics in English :

Taron ki chhaon tale
Shamma parvane mile
Hoya kurban meri jaan
Mile dil se dil jale
Taron ki chhaon tale
Shamma parvane mile
Haye taron ki chhaon tale
Shamma parvane mile

Husn ke andaz hai
Mashur jaha mein
Mein haseen hu isliye hai
Nur jaha mein
Dekh ke mujhko kisi
Shayar ne kaha tha
Utari hai asma se
Koi nur jaha mein
Are tune suna hi nahi
Phir apna fasana
Are ishq jise chahe
Bana dale deewana
Ho dekh ke mujhko
To bhi tune kaha tha
Tere liye chhod du mein
Sara zamana
Chalta koi zor nahi shokh
Nigaho ka haseen raag
Jab chale
Taron ki chhaon tale
Shamma parvane mile

Dil se meri aaj nikalo
To kahu mein
Badhti dhadkano ko
Chhupa lo to kahu mein
Dekh liya maine tumhe
Mast nazar se
Dagmagate pav sambhalo
To kahu mein
Are teri nighaho ko
Kaha jaam humhi ne
Charche kiye tere
Subha sham humhi ne
Kya tu hai aur kya teri
Yeh mast adaye
Tujhko haseena ka
Diya naam humhi ne
Tham le mehtab jigar
Rukht ye naqab
Agar chhod ke gayi
Taron ki chhaon tale
Shamma parvane mile

Jaane jaha shamma e
Mehfil bana diya
Aji humne tumhe pyar ke
Kabil bana diya
Hum jo na hote to tumhe
Kaun puchhta
Humko duaye do tumhe
Katil bana diya
Sun zara o bekhabar
Kya tujhko khabar hai
Zindagi teri to meri
Ek nazar hai
Man liya ishq bhi hai
Ek kayakash
Husn se lagta to
Qayamat ko bhi dar hai
Jagata parvana kare
Dil jala jal jal ke
Mare shamma jab jale
Taron ki chhaon tale
Shamma parvane mile
Hoya kurban meri jaan
Mile dil se dil jale
Taron ki chhaon tale
Shamma parvane mile.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *