ज़िन्दगी रोज नये रंग में Zindagi Roj Naye Rang Main Lyrics in Hindi from Aaj (1990)

Zindagi Roj Naye Rang Main Lyrics in Hindi. ज़िन्दगी रोज नये रंग में song from Aaj 1990

Song Name : Zindagi Roj Naye Rang Main
Album / Movie : Aaj 1990
Star Cast : Kumar Gaurav, Anamika Pal, Raj Babbar, Marc Zuber, Raj Kiran
Singer : Ashok Khosla, Ghanshyam Vaswani, Jagjit Singh, Junaid Akhtar, Vinod Sehgal
Music Director : Chitra Singh (Chitra Dutta), Jagjit Singh
Lyrics by : Madan Pal
Music Label : Saregama

Zindagi Roj Naye Rang Main Lyrics in Hindi :

ज़िन्दगी ज़िन्दगी ज़िन्दगी
ज़िन्दगी ज़िन्दगी ज़िन्दगी
ज़िन्दगी रोज़ नए रंग में ढल जाती हैं
ज़िन्दगी रोज़ नए रंग में ढल जाती हैं
कभी दुश्मन तो कभी दुश्मन तो
कभी दोस्त नज़र आती हैं
कभी दुश्मन तो कभी दोस्त नज़र आती हैं
ज़िन्दगी रोज़ नए रंग में ढल जाती हैं
ज़िन्दगी रोज़ नए रंग में ढल जाती हैं
कभी दुश्मन तो कभी दोस्त नज़र आती हैं
कभी दुश्मन तो कभी

कभी छा जाये बरस जाये घटा बेमोसम
कभी छा जाये बरस जाये घटा बेमोसम
कभी छा जाये बरस जाये घटा बेमोसम
कभी छा जाये बरस जाये घटा बेमोसम
कभी छा जाये बरस जाये घटा बेमोसम
कभी छा जाये बरस जाये घटा बेमोसम
कभी एक बूंद को भी कभी एक बूंद को भी
रूह तरस जाती हैं
कभी एक बूंद को भी रुह तरस जाती हैं
कभी एक बूंद को भी रुह तरस जाती हैं
कभी एक बूंद को भी रुह तरस जाती हैं
ज़िन्दगी रोज़ नए रंग में ढल जाती हैं
ज़िन्दगी रोज़ नए

जब कोई अपना चला जाये छुड़ा कर दमन
जब कोई अपना चला जाये छुड़ा कर दमन
जब कोई अपना चला जाये छुड़ा कर दमन
जब कोई अपना चला जाये छुड़ा कर दमन
जब कोई अपना चला जाये छुड़ा कर दमन
जब कोई अपना चला जाये छुड़ा कर दमन
दिल के अरमानों पे हाय
दिल के अरमानों पे तलवार सी चल जाती हैं
दिल के अरमानों पे तलवार सी चल जाती हैं
दिल के अरमानों पे तलवार सी चल जाती हैं
दिल के अरमानों पे तलवार सी चल जाती हैं
ज़िन्दगी रोज़ नए रंग में ढल जाती हैं
ज़िन्दगी रोज़ नए

टूट जाते हैं बिखर जाते हैं मोती सरे
टूट जाते हैं बिखर जाते हैं मोती सरे
टूट जाते हैं बिखर जाते हैं मोती सरे
टूट जाते हैं बिखर जाते हैं मोती सरे
टूट जाते हैं बिखर जाते हैं मोती सरे
टूट जाते हैं बिखर जाते हैं मोती सरे
टूट जाते हैं बिखर जाते हैं मोती सरे
प्यार की माला कही
प्यार की माला कही से भी जो कट जाती हैं
प्यार की माला कही से भी जो कट जाती हैं
प्यार की माला कही से भी जो कट जाती हैं
प्यार की माला कही से भी जो कट जाती हैं
ज़िन्दगी रोज़ नए रंग में ढल जाती हैं
ज़िन्दगी रोज़ नए

मेरे मभी पे ना जा मेरे गुनाहों को न गिन
मेरे मभी पे ना जा मेरे गुनाहों को न गिन
मेरे मभी पे ना जा मेरे गुनाहों को न गिन
मेरे मभी पे ना जा मेरे गुनाहों को न गिन
मेरे मभी पे ना जा मेरे गुनाहों को न गिन
मेरे मभी पे ना जा मेरे गुनाहों को न गिन
कोण है जिस से कभी
कोण है जिस से कभी भूल न हो पाती हैं
कोण है जिस से कभी भूल न हो पाती हैं
कोण है जिस से कभी भूल न हो पाती हैं
कोण है जिस से कभी भूल न हो पाती हैं
ज़िन्दगी रोज़ नए रंग में ढल जाती हैं
ज़िन्दगी रोज़ नए रंग में ढल जाती हैं
ज़िन्दगी ज़िन्दगी ज़िन्दगी ज़िन्दगी
ज़िन्दग़ीज़िन्दगी ज़िन्दग़ीज़िन्दगी.

Zindagi Roj Naye Rang Main Lyrics in English :

Zindagi zindagi zindagi
Zindagi zindagi zindagi
Zindagi roz naye rang main dal jati hain
Zindagi roz naye rang main dal jati hain
Kabhi dushman to kabhi dushman to
Kabhi dost nazar aati hain
Kabhi dushman to kabhi dost nazar aati hain
Zindagi roz naye rang main dal jati hain
Zindagi roz naye rang main dal jati hain
Kabhi dushman to kabhi dost nazar aati hain
Kabhi dushman to kabhi

Kabhi chha jaye baras jaye ghata bemosam
Kabhi chha jaye baras jaye ghata bemosam
Kabhi chha jaye baras jaye ghata bemosam
Kabhi chha jaye baras jaye ghata bemosam
Kabhi chha jaye baras jaye ghata bemosam
Kabhi chha jaye baras jaye ghata bemosam
Kabhi ek bund ko bhi kabhi ek bund ko bhi
Ruh taras jati hain
Kabhi ek bund ko bhi ruh taras jati hain
Kabhi ek bund ko bhi ruh taras jati hain
Kabhi ek bund ko bhi ruh taras jati hain
Zindagi roz naye rang main dal jati hain
Zindagi roz naye

Jab koi apna chala jaye chhuda kar daman
Jab koi apna chala jaye chhuda kar daman
Jab koi apna chala jaye chhuda kar daman
Jab koi apna chala jaye chhuda kar daman
Jab koi apna chala jaye chhuda kar daman
Jab koi apna chala jaye chhuda kar daman
Dil ke armano pe haye,
Dil ke armano pe talwar si chal jati hain
Dil ke armano pe talwar si chal jati hain
Dil ke armano pe talwar si chal jati hain
Dil ke armano pe talwar si chal jati hain
Zindagi roz naye rang main dal jati hain
Zindagi roz naye

Tut jate hain bikhar jate hain moti sare
Tut jate hain bikhar jate hain moti sare
Tut jate hain bikhar jate hain moti sare
Tut jate hain bikhar jate hain moti sare
Tut jate hain bikhar jate hain moti sare
Tut jate hain bikhar jate hain moti sare
Tut jate hain bikhar jate hain moti sare
Pyar ki mala kahi,
Pyar ki mala kahi se bhi jo kat jati hain
Pyar ki mala kahi se bhi jo kat jati hain
Pyar ki mala kahi se bhi jo kat jati hain
Pyar ki mala kahi se bhi jo kat jati hain
Zindagi roz naye rang main dal jati hain
Zindagi roz naye

Mere mahbi pe na ja mere gunaho ko na gin
Mere mahbi pe na ja mere gunaho ko na gin
Mere mahbi pe na ja mere gunaho ko na gin
Mere mahbi pe na ja mere gunaho ko na gin
Mere mahbi pe na ja mere gunaho ko na gin
Mere mahbi pe na ja mere gunaho ko na gin
Kon hai jis se kabhi
Kon hai jis se kabhi bhul na ho pati hain
Kon hai jis se kabhi bhul na ho pati hain
Kon hai jis se kabhi bhul na ho pati hain
Kon hai jis se kabhi bhul na ho pati hain
Zindagi roz naye rang main dal jati hain
Zindagi roz naye rang main dal jati hain
Zindagi zindagi zindagi zindagi
Zindagizindagi zindagizindagi.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *