ज़िन्दगी कहुं Zindagi Kahun Lyrics in Hindi from 5 Ghantey Mien 5 Crore (2012)

Zindagi Kahun Lyrics in Hindi. ज़िन्दगी कहुं song from 5 Ghantey Mien 5 Crore 2012.
Song Name : Zindagi Kahun
Album / Movie : 5 Ghantey Mien 5 Crore 2012
Star Cast : Meera, Abhishek Kumar, Kavita Radheshyam
Singer : Hasan Amin
Music Director : Ali Mustafa
Lyrics by : Hasan Amin
Music Label : Worldwide Records

Zindagi Kahun Lyrics in Hindi :

साया तेरा जो मुझको
अब यूँ नज़र आये
बीते पलों की यादें
मुझे यूँ तड़पायें
आँखों के अश्कों में दिल
डूब मेरा जाए
महरूमियों के आलम में
मिल ले मुझे तू दुआ यह करून
मेरी धड़कनों को जिन्दा में करुण
ज़िन्दगी को ज़िन्दगी कहुं
ज़िन्दगी को ज़िन्दगी कहुं

चाहे तुम्हें था इतना
तुमने न जाने कितना
दीवानगी की हद तक
मैंने किया था उतना
यादों में तेरी अब तक
जलता रहा हूँ में अब
दर्द भरी यह ज़िन्दगी
मेरी हसरतें भी तुझ में है
मेरी आशिकी भी तुझ में है
मेरी ज़िन्दगी भी तुझ में है
मेरी जान मिल ले मुझे
तू दुआ यह करून
मेरी धड़कनों को
जिन्दा में करुण
ज़िन्दगी को ज़िन्दगी कहुं
ज़िन्दगी को ज़िन्दगी कहुं

भुजते दिए साँसों के
तेरे सरहाने में यूँ
तुझको बुलाये रात दिन
चंद पलों में यह अब
साँसें रुकेंगी शायद
अब भी तू मूढ़ के देख ले तोह
में मौत को भी रख दूँ
में साँस को भी छीन लूँ
में फिर से तेरी यादों में जीयूं
मिल ले मुझे तू दुआ यह करून
मेरी धड़कनों को जिन्दा में करुण
ज़िन्दगी को ज़िन्दगी कहुं
ज़िन्दगी को ज़िन्दगी कहुं.

Zindagi Kahun Lyrics in English :

Saaya tera jo mujhko
Ab yun nazar aaye
Beete palon ki yaadein
Mujhe yun tadpayein
Aankhon ke ashkon mein dil
Doob mera jaaye
Mehrumiyon ke aalam mein
Mil le mujhe tu dua yeh karoon
Meri dhadkano ko zinda mein karun
Zindagi ko zindagi kahun
Zindagi ko zindagi kahun

Chaaha tumhein tha itna
Tumne na jaana kitna
Deewangi ki hadh tak
Maine kiya tha utna
Yaadon mein teri ab tak
Jalta raha hoon mein ab
Dard bhari yeh zindagi
Meri hasratein bhi tujh mein hai
Meri aashiqui bhi tujh mein hai
Meri zindagi bhi tujh mein hai
Meri jaan mil le mujhe
Tu dua yeh karoon
Meri dhadkano ko
Zinda mein karun
Zindagi ko zindagi kahun
Zindagi ko zindagi kahun

Bhujte diye saanson ke
Tere sarhane mein yun
Tujhko bulaye raat din
Chand palon mein yeh ab
Sansein rukengi shayad
Ab bhi tu mudh ke dekh le toh
Mein maut ko bhi rokh doon
Mein saans ko bhi cheen loon
Mein phir se teri yaadon mein jeeyun
Mil le mujhe tu dua yeh karoon
Meri dhadkano ko zinda mein karun
Zindagi ko zindagi kahun
Zindagi ko zindagi kahun.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *