ज़माने को अब तक नहीं Zamaane Ko Ab Tak Nahi Lyrics in Hindi from Zamaana Deewana (1995)

Zamaane Ko Ab Tak Nahi Lyrics in Hindi. ज़माने को अब तक नहीं song from Zamaana Deewana 1995.
Song Name : Zamaane Ko Ab Tak Nahi
Album / Movie : Zamaana Deewana 1995
Star Cast : Jeetendra, Shatrughan Sinha, Shahrukh Khan, Raveena Tandon, Anupam Kher, Prem Chopra
Singer : Abhijeet Bhattacharya, Alka Yagnik
Music Director : Nadeem Saifi, Shravan Rathod
Lyrics by : Sameer
Music Label : Venus Music

Zamaane Ko Ab Tak Nahi Lyrics in Hindi :

ज़माने को अब तक नहीं है पता
अगर हो गयी हमसे कोई खता
ज़माने को अब तक नहीं है पता
अगर हो गयी हमसे कोई खता
कही शोर मच गया तो
क्या होगा क्या होगा क्या होगा
क्या होगा क्या होगा क्या होगा
ज़माने को अब तक नहीं है पता
अगर हो गयी हमसे कोई खता
कही शोर मच गया तो
क्या होगा क्या होगा क्या होगा
क्या होगा क्या होगा क्या होगा

देख न ऐसी नज़रों से
बेचैन दिल घबराता है
बिन तुझे देखे दिल पर
अब चैन कही न आता है
छोडो शरारत करना
ऐसे मोहब्बत कर ना
थोड़ा बहक जाने
दो नज़दीक तो आने दो
दीवाने ज़रा मुझको इतना बता
अगर अगर हो गयी हमसे कोई खता
ज़माने को अब तक नहीं है पता
अगर हो गयी हमसे कोई खता
कही शोर मच गया तो
क्या होगा क्या होगा क्या होगा
क्या होगा क्या होगा क्या होगा

क्यों करें न प्यार
हम मौक़ा भी है तन्हाई भी
धड़कने बेताब हैं
मौसम भी है अंगड़ाई भी
गोरी मेरा दिल कब से मोति चुरा लूँ लब से
बाहों में बाहें डाले
मुझको गले से लगा लो
तुम्हें देख कर हो रहा है नशा
अगर हो गयी हमसे कोई खता …
ज़माने को अब तक नहीं है पता
अगर हो गयी हमसे कोई खता
कही शोर मच गया तो क्या
होगा क्या होगा क्या होगा.

Zamaane Ko Ab Tak Nahi Lyrics in English :

Zamaane ko ab tak nahi hai pataa
Agar ho gayi hamse koi khataa
Zamaane ko ab tak nahi hai pataa
Agar ho gayi hamse koi khataa
Kahi shor mach gaya to
Kya hoga kya hoga kyaa hoga
Kya hoga kya hoga kyaa hoga
Zamaane ko ab tak nahi hai pataa
Agar ho gayi hamse koi khataa
Kahi shor mach gaya to
Kya hoga kya hoga kyaa hoga
Kya hoga kya hoga kyaa hoga

Dekh na aaisi nazaro se
Bechain dil ghabraataa hai
Bin tujhe dekhe dil par
Ab chain kahi na aataa hai
Chhodo sharaarat karnaa
Aise mohabbat kar naa
Thodaa behak jaane
Do nazadeek to aane do
Deewaane zaraa mujhko itnaa bataa
Agar agar ho gayi hamse koi khataa
Zamaane ko ab tak nahi hai pataa
Agar ho gayi hamse koi khataa
Kahi shor mach gaya to
Kya hoga kya hoga kyaa hoga
Kya hoga kya hoga kyaa hoga

Kyun karen na pyaar
Hum mauqaa bhi hai tanhaai bhi
Dhadkane betaab hain
Mausam bhi hai angadaai bhi
Gori mera dil kab se moti chura lu lab se
Baahon mein baahein daalo
Mujhko gale se lagaa lo
Tumhein dekh kar ho rahaa hai nashaa
Agar ho gayi hamse koi khataa …
Zamaane ko ab tak nahi hai pataa
Agar ho gayi hamse koi khataa
Kahi shor mach gaya to kya
Hoga kya hoga kyaa hoga.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *