जब चाहा यारा तुमने Jab Chaha Yaara Tumne Lyrics in Hindi from Zabardast (1985)

Jab Chaha Yaara Tumne Lyrics in Hindi. जब चाहा यारा तुमने song from Zabardast 1985.

Song Name : Jab Chaha Yaara Tumne
Album / Movie : Zabardast 1985
Star Cast : Sunny Deol, Jaya Prada, Mac Mohan, Sanjeev Kumar
Singer : Kishore Kumar
Music Director : Rahul Dev Burman
Lyrics by : Majrooh Sultanpuri
Music Label : T-Series

Jab Chaha Yaara Tumne Lyrics in Hindi :

जब चाहा यारा तुमने
आँखों से मारा तुमने
होठों से ज़िंदा कर दिया हो हो हो
जब चाहा यारा तुमने
आँखों से मारा तुमने
होठों से ज़िंदा कर दिया
अरे तुम्हारी मर्ज़ी पे चल रहे हैं
खता हमारी क्या हो
जब चाहा यारा तुमने
आँखों से मारा तुमने
होठों से ज़िंदा कर दिया

चलो जी हम बुरे सही
चलो जी हम झूठे हैं
मगर इसी निगाह से
हज़ार दिल टूटे हैं
चलो जी हम बुरे सही
चलो जी हम झूठे हैं
मगर इसी निगाह से
हज़ार दिल टूटे हैं
अरे कसम से कहना हमारी सुरत
नहीं हैं प्यारी क्या हो
जब चाहा यारा तुमने
आँखों से मारा तुमने
होठों से ज़िंदा कर दिया
अरे तुम्हारी मर्ज़ी पे चल रहे हैं
खता हमारी क्या हो
जब चाहा यारा तुमने
आँखों से मारा तुमने
होठों से ज़िंदा कर दिया

समझ सको तो हमसफ़र
हमें तुम अपना जानो
उधर नहीं इधर चलो
कभी तो कहना मानो
समझ सको तो हमसफ़र
हमें तुम अपना जानो
उधर नहीं इधर चलो
कभी तो कहना मानो
अरे लिपट के पुछो
के आगे मर्ज़ी की अब हमारी क्या हो
जब चाहा यारा तुमने
आँखों से मारा तुमने
होठों से ज़िंदा कर दिया
अरे तुम्हारी मर्ज़ी पे चल रहे हैं
खता हमारी क्या हो
जब चाहा यारा तुमने
आँखों से मारा तुमने
होठों से ज़िंदा कर दिया.

Jab Chaha Yaara Tumne Lyrics in English :

Jab chaha yaara tumne
Aankhon se maara tumne
Hothon se zinda kar diya ho ho ho
Jab chaha yaara tumne
Aankhon se maara tumne
Hothon se zinda kar diya
Are tumhari marzi pe chal rahe hain
Khata hamari kya ho
Jab chaha yaara tumne
Aankhon se maara tumne
Hothon se zinda kar diya

Chalo ji hum bure sahi
Chalo ji hum jhoote hain
Magar isi nigaah se
Hazaar dil toote hain
Chalo ji hum bure sahi
Chalo ji hum jhoote hain
Magar isi nigaah se
Hazaar dil toote hain
Are kasam se kehna hamari surat
Nahin hain pyari kya ho
Jab chaha yaara tumne
Aankhon se maara tumne
Hothon se zinda kar diya
Are tumhari marzi pe chal rahe hain
Khata hamari kya ho
Jab chaha yaara tumne
Aankhon se maara tumne
Hothon se zinda kar diya

Samajh sako to humsafar
Hamein tum apna jaano
Udhar nahin idhar chalo
Kabhi to kehna mano
Samajh sako to humsafar
Hamein tum apna jaano
Udhar nahin idhar chalo
Kabhi to kehna mano
Are lipat ke pucho
Ke aage marzi ki ab hamari kya ho
Jab chaha yaara tumne
Aankhon se maara tumne
Hothon se zinda kar diya
Are tumhari marzi pe chal rahe hain
Khata hamari kya ho
Jab chaha yaara tumne
Aankhon se maara tumne
Hothon se zinda kar diya.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *