चार दिन का सफर Chaar Din Ka Safar Lyrics in Hindi from Zaalim (1994)

Chaar Din Ka Safar Lyrics in Hindi. चार दिन का सफर song from Zaalim 1994.

Song Name : Chaar Din Ka Safar
Album / Movie : Zaalim 1994
Star Cast : Akshay Kumar, Madhoo, Vishnuvardhan, Ranjeet, Mohan Joshi, Alok Nath, Arjun, Arun Bakshi, Sabeeha, Navneet Nishan, Preeti Khare, Rakesh Bedi, Tiku Talsania, Vikram Bali, Shiva Rindani, Padma Rani, Nalini, Baby Shirin, Javed Khan
Singer : Kavita Krishnamurthy, Suresh Wadkar, Vinod Rathod
Music Director : Anu Malik
Music Label : Tips Music

Chaar Din Ka Safar Lyrics in Hindi :

ज़िन्दगी में ख़ुशी हैं घडी दो घडी
ज़िन्दगी में ख़ुशी हैं घडी दो घडी
हर कदम पर नया इन्तेहा हैं
चार दिन का सफर ये जहाँ हैं
मुस्कुराले बहोत काम सम्मा हैं
ज़िन्दगी में ख़ुशी हैं घडी दो घडी
हर कदम पर नया इन्तेहा हैं
चार दिन का सफर ये जहाँ हैं
मुस्कुराले बहोत काम सम्मा हैं
ज़िन्दगी में ख़ुशी हैं घडी दो घडी
हर कदम पर नया इन्तेहा हैं
चार दिन का सफर ये जहाँ हैं

हाथ ले जो पल हैं तेरे
है इससे तू बित्ता ले
आने वाला पल न जाने
क्या खेल सबको दिखा दे
हाथ ले जो पल हैं तेरे
है इससे तू बित्ता ले
वक़्त के सामने आदमी कुछ नहीं
वक़्त के सामने आदमी कुछ नहीं
वक़्त के सामने आदमी कुछ नहीं
आदमी पालकी बस दास्ता हानि
चार दिन का सफर ये जहां हैं
मुस्कुराले बहोत काम सम्मा हैं

कहके गए हैं संत सयाने
ये जग हैं रैन बसेरा
मालिक सबका एक वहीँ हैं
पगले न कर तेरा मेरा
कहके गए हैं संत सयाने
ये जग हैं रैन बसेरा
लेके आया था क्या लेके जाएगा क्या
लेके आया था क्या लेके जाएगा क्या
लेके आया था क्या लेके जाएगा क्या
सब मंजिल आखिर वह हैं
चार दिन का सफर ये जहां हैं
मुस्कुराले बहोत काम सम्मा हैं

सप्तरंगी हैं दुनिया सारी
कोई रंग फिक्का पड़े न
रंग प्रेम का न हो जिस घर मैं
वह घर तो अच्छा लगे न
सप्तरंगी हैं दुनिया सारी
कोई रंग फिक्का पड़े न
प्रेम ही हो धरम प्रेम ही हो करम
प्रेम ही हो धरम प्रेम ही हो करम
प्रेम ही हो धरम प्रेम ही हो करम
प्रेम तेरी मेरी आत्मा हैं
चार दिन का सफर ये जहाँ हैं
मुस्कुराले बहोत काम सम्मा हैं
ज़िन्दगी में ख़ुशी हैं घडी दो घडी
हर कदम पर नया इन्तेहा हैं.

Chaar Din Ka Safar Lyrics in English :

Zindagi mein khushi hain ghadi do ghadi
Zindagi mein khushi hain ghadi do ghadi
Har kadam par naya intehaa hain
Chaar din ka safar ye jahan hain
Muskurale bahot kam samma hain
Zindagi mein khushi hain ghadi do ghadi
Har kadam par naya intehaa hain
Chaar din ka safar ye jahan hain
Muskurale bahot kam samma hain
Zindagi mein khushi hain ghadi do ghadi
Har kadam par naya intehaa hain
Chaar din ka safar ye jahan hain

Hath le jo pal hain tere
Has isse tu bitta le
Aane wala pal na jaane
Kyaa khel sabko dikha de
Haath le jo pal hain tere
Has isse tu bitta le
Waqt ke saamne aadami kuch nahi
Waqt ke saamne aadami kuch nahi
Waqt ke saamne aadami kuch nahi
Aadami palki bas daasta hani
Chaar din ka safar ye jahaan hain
Muskurale bahot kam samma hain

Kehake gaye hain sant sayane
Ye jag hain ren basera
Maalik sabka ek wahin hain
Pagle na kar tera mera
Kehake gaye hain sant sayane
Ye jag hain ren basera
Leke aaya thaa kyaa leke jaayega kyaa
Leke aaya thaa kyaa leke jaayega kyaa
Leke aaya thaa kyaa leke jaayega kyaa
Sab manzil aakhir waha hain
Chaar din ka safar ye jahaan hain
Muskurale bahot kam samma hain

Saptrangee hain duniya saari
Koi rang fikka pade na
Rang prem ka na ho jis ghar main
Woh ghar to achha lage na
Saptrangee hain duniya saari
Koi rang fikka pade na
Prem hi ho dharam prem hi ho karam
Prem hi ho dharam prem hi ho karam
Prem hi ho dharam prem hi ho karam
Prem teri meri aatma hain
Chaar din ka safar ye jahan hain
Muskurale bahot kam samma hain
Zindagi mein khushi hain ghadi do ghadi
Har kadam par naya intehaa hain.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *