खिले न कागज़ Khile Na Kagaz Lyrics in Hindi from Zamaanat

Khile Na Kagaz Lyrics in Hindi. खिले न कागज़ song from Zamaanat

Song Name : Khile Na Kagaz
Album / Movie : Zamaanat
Star Cast : Jeetendra, Neetu Singh, Amjad Khan, Mukri, Reena Roy, Bindu, Sujit, Birbal, Ranjeet
Singer : Kishore Kumar
Music Director : Master Sonik, Om Prakash Sonik
Lyrics by : Inderjeet Singh Tulsi
Music Label : Saregama

Khile Na Kagaz Lyrics in Hindi :

खिले न कागज़ का कभी फूल
बुराई बंटी उड़ कर धूल
फ़िज़ा में फूल खिलना है
के जीवन को महकना है
खिले न कागज़ का कभी फूल

सो बातो की एक बात है
बात सुनो रे भैया
सच का बेडा पर लगे है
झूठ की डूबे नैया
जो है सचा एक इंसान
है उसकी मुठी में भगवन
के मन को ये समझाना है
दुखो में भी मुस्कान है
खिले न कागज़ का कभी फूल

टूटे तारे अपने पीछे
जाये छोड लकीरे
मिट्टी मिट्टी बन जाती है
म्हणत से तकदीरे
लेके सूरज अपने साथ
चाँद के हाथ में लेकर हाथ
अँधेरा दूर हटना है
सवेरा ढूंड के लाना है
खिले न कागज़ का कभी फूल
बुराई बंटी उड़ कर धूल
फ़िज़ा में फूल खिलना है
के जीवन को महकना है
खिले न कागज़ का कभी फूल.

Khile Na Kagaz Lyrics in English :

Khile na kagaz ka kabhi phool
Burai banti ud kar dhul
Fiza me phool khilana hai
Ke jiwan ko mahkana hai
Khile na kagaz ka kabhi phool

So bato ki ek bat hai
Bat suno re bhaiya
Sach ka beda par lage hai
Jhuth ki dube naiya
Jo hai sacha ek insan
Hai uski muthi me bhagwan
Ke man ko ye samjhana hai
Dukho me bhi muskana hai
Khile na kagaz ka kabhi phool

Tute tare apne piche
Jaye chod lakire
Mitte mitte ban jati hai
Mehnat se takdire
Leke suraj apne sath
Chand ke hath me lekar hath
Andhera dur hatana hai
Sawera dhund ke lana hai
Khile na kagaz ka kabhi phool
Burai banti ud kar dhul
Fiza me phool khilana hai
Ke jiwan ko mahkana hai
Khile na kagaz ka kabhi phool.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *