Skip to content

हेलो म्हारो सुणज्यो बाबा खाटू श्याम जी भजन कृष्ण भजन लिरिक्स

  • by
0 1527

हेलो म्हारो सुणज्यो बाबा,
खाटू श्याम जी,
थारी शरण मैं आया,
खाटू धाम जी,
मैं छोड़ कठे थाने जावां,
मैं तो थाने ही ध्यावां,
म्हारे कुल का देवता श्याम जी,
हेलो म्हारो सुणज्यों बाबा,
खाटू श्याम जी,
थारी शरण मैं आया,
खाटू धाम जी।।

म्हारा अपना होग्या पराया,
दुनिया से प्रभु में भरमाया,
बीच भंवर म्हारी नैया डोले,
सुणल्यों थे अहिलवती का जाया,
मैं छोड़ कठे थाने जावां,
मैं तो थाने ही ध्यावां,
म्हारे कुल का देवता श्याम जी,
हेलो म्हारो सुणज्यों बाबा,
खाटू श्याम जी,
थारी शरण मैं आया,
खाटू धाम जी।।

थारे दरस बिन अखियां तरसे,
सुध-बुध भूल्यां श्याम,
नेण महारा बरसे,
करुण पुकार म्हारी,
सुणल्यों सांवरिया,
थारी कृपा ने तरसे,
टाबरियो कद से,
मैं छोड़ कठे थाने जावां,
मैं तो थाने ही ध्यावां,
म्हारे कुल का देवता श्याम जी,
हेलो म्हारो सुणज्यों बाबा,
खाटू श्याम जी,
थारी शरण मैं आया,
खाटू धाम जी।।

सांचो है थारो दरबार बाबा,
परचों दिखाओ,
अबार म्हाने बाबा,
जीवनदान देवों बालक ने बाबा,
झोऴी फैलावां थारे सामने बाबा,
मैं छोड़ कठे थाने जावां,
मैं तो थाने ही ध्यावां,
म्हारे कुल का देवता श्याम जी,
हेलो म्हारो सुणज्यों बाबा,
खाटू श्याम जी,
थारी शरण मैं आया,
खाटू धाम जी।।

हेलो म्हारो सुणज्यो बाबा,
खाटू श्याम जी,
थारी शरण मैं आया,
खाटू धाम जी,
मैं छोड़ कठे थाने जावां,
मैं तो थाने ही ध्यावां,
म्हारे कुल का देवता श्याम जी,
हेलो म्हारो सुणज्यों बाबा,
खाटू श्याम जी,
थारी शरण मैं आया,
खाटू धाम जी।।

Leave a Reply

Your email address will not be published.