सुन देवा सुन मेरी देवा तेरा नाम है मिश्री मेवा

दुर्गा माँ भजन सुन देवा सुन मेरी देवा तेरा नाम है मिश्री मेवा

सुन देवा सुन मेरी देवा,
तेरा नाम है मिश्री मेवा,
पहाड़ों विच रेहण वालीये,
पहाड़ों विच रेहण वालीये।।

ये तारे कितने प्यारे,
ये तारे कितने प्यारे,
तेरी चुनरी में लग जाए सारे,
पहाड़ों विच रेहण वालीये,
पहाड़ों विच रेहण वालीये।।

ये कंगना मां तेरे कंगना,
ये कंगना मां तेरे कंगना,
तुम जल्दी आना मेरे अंगना,
पहाड़ों विच रेहण वालीये,
पहाड़ों विच रेहण वालीये।।

ये बिंदिया तेरी बिंदिया,
ये बिंदिया तेरी बिंदिया,
तेरे भक्तों के उड़ गई निंदिया,
पहाड़ों विच रेहण वालीये,
पहाड़ों विच रेहण वालीये।।

यह ज्योति मां तेरी ज्योति,
यह ज्योति मां तेरी ज्योति,
अँधियारा दूर भगाती,
पहाड़ों विच रेहण वालीये,
पहाड़ों विच रेहण वालीये।।

ये पायल माँ तेरी पायल,
ये पायल माँ तेरी पायल,
तेरे भक्तो को करती घायल,
पहाड़ों विच रेहण वालीये,
पहाड़ों विच रेहण वालीये।।

सुन देवा सुन मेरी देवा,
तेरा नाम है मिश्री मेवा,
पहाड़ों विच रेहण वालीये,
पहाड़ों विच रेहण वालीये।।

This Post Has One Comment

Leave a Reply