Skip to content

सांवरा दयालु है हारे का सहारा है भजन घनश्याम भजन लिरिक्स

  • by
0 108

सांवरा दयालु है
हारे का सहारा है
इनकी कृपा से ही होता
जग में गुजारा है
साँवरा दयालु है
हारे का सहारा है।।

फिल्मी तर्ज भजन: आदमी मुसाफिर।

गहरा हो दरिया दुखो का जितना
जोर लगा ले तूफ़ान कितना
बाबा के होते ना
दूर किनारा है
साँवरा दयालु है
हारे का सहारा है।।

बिगड़ी बनाता विपदा मिटाता
भटके हुओं को मंजिल दिखाता
जीवन में करता
उजियारा है
साँवरा दयालु है
हारे का सहारा है।।

जग से ना माँगना रोना पड़ेगा
सम्मान अपना खोना पड़ेगा
बिन मांगे देता ये
पालनहारा है
साँवरा दयालु है
हारे का सहारा है।।

रूबी-रीधम आया इनकी शरण जो
रहती ना चिंता रहता मगन वो
अपने प्रेमियों का ये
रखवारा है
साँवरा दयालु है
हारे का सहारा है।।

सांवरा दयालु है
हारे का सहारा है
इनकी कृपा से ही होता
जग में गुजारा है
साँवरा दयालु है
हारे का सहारा है।।

Singer : Smita Ganuwala

Leave a Reply

Your email address will not be published.