वीर हनुमाना राम का दीवाना हनुमान जी भजन लिरिक्स

भजन वीर हनुमाना राम का दीवाना हनुमान जी भजन लिरिक्स
गायक – मुकेश कुमार मीना।
तर्ज – गोरे गोरे मुखड़े पे।

छम छम नाचे देखो वीर हनुमाना,
वीर हनुमाना राम का दीवाना,
राम का दीवाना,
छम छम नाचे देखो वीर हनुमाना।।

दिन देखे ना रात ये,
फेरे माला राम की,
ना परवाह किस काम की,
परवाह अपने राम की,
राम की लगन में हैं मगन बड़े,
राम की शरण मे हैं अटल खड़े,
राम गुण गाये हर पल,
झूमे है दीवाना,
झूमे है दीवाना,
छम छम नाचे देखो वीर हनुमाना।।

बचपन की एक बात है,
जब छोटे से लाल थे,
सूरज निगल गए मुहं में,
ऐसे अंजनी लाल थे,
देवो ने जब विनती करी,
तब बाला को समझ परी,
मन से ये भोले तन से,
वीर बलवाना,
वीर बलवाना,
छम छम नाचे देखो वीर हनुमाना।।

दुष्टों के ये काल हैं,
संतन के प्रतिपाल हैं,
रावण का भ्रम तोड़कर,
बने राम रखवाल हैं,
रामजी का नाम लिए गरजे बली,
काट डाले फंद सब वीर बली,
भूत प्रेत ढूंढे डरकर,
अपना ठिकाना,
अपना ठिकाना,
छम छम नाचे देखो वीर हनुमाना।।

छम छम नाचे देखो वीर हनुमाना,
वीर हनुमाना राम का दीवाना,
राम का दीवाना,
छम छम नाचे देखो वीर हनुमाना।।

Leave a Reply