Skip to content

वारी जावा वारी जावा वारी जावा भजन कृष्ण भजन लिरिक्स

  • by
0 2408

वारी जावा वारी जावा वारी जावा
सांवरी सुरतिया पे वारि जावा
ऐसा श्रृंगार तेरा किसने सजाया है
देख देख भक्तो का मन हर्षाया है
वारी जावा वारि जावा वारि जावा
सांवरी सुरतिया पे वारि जावा।।

सांवला सा मुखड़ा तेरा नैन कजरारे
तिरछी निगाहो के तू तीर ऐसे मारे
वारी जावा वारि जावा वारि जावा
तिरछी नजरिया पे वारि जावा
वारी जावा वारि जावा वारि जावा
सांवरी सुरतिया पे वारि जावा
ऐसा श्रृंगार तेरा किसने सजाया है
देख देख भक्तो का मन हर्षाया है
वारी जावा वारि जावा वारि जावा
सांवरी सुरतिया पे वारि जावा।।

दुल्हन सी लगे तेरी खाटू नगरिया
लीले पे बैठा दूल्हा बन के सांवरिया
वारी जावा वारि जावा वारि जावा
खाटू नगरीया पे वारि जावा
वारी जावा वारि जावा वारि जावा
बाबा की दुवरिया पे वारि जावा
ऐसा श्रृंगार तेरा किसने सजाया है
देख देख भक्तो का मन हर्षाया है
वारी जावा वारि जावा वारि जावा
सांवरी सुरतिया पे वारि जावा।।

फूलो के हार सोहे हर्ष क्या निखार है
किसने सजाया तुमको मेरे सरकार है
वारी जावा वारि जावा वारि जावा
बाबा उन हाथो पे वारि जावा
ऐसा श्रृंगार तेरा किसने सजाया है
देख देख भक्तो का मन हर्षाया है
वारी जावा वारि जावा वारि जावा
सांवरी सुरतिया पे वारि जावा।।

वारी जावा वारी जावा वारी जावा
सांवरी सुरतिया पे वारि जावा
ऐसा श्रृंगार तेरा किसने सजाया है
देख देख भक्तो का मन हर्षाया है
वारी जावा वारि जावा वारि जावा
खाटू नगरीया पे वारि जावा
वारी जावा वारि जावा वारि जावा
सांवरी सुरतिया पे वारि जावा।।

Leave a Reply

Your email address will not be published.