Skip to content

लाज बचाता है गले लगाता है श्याम भजन श्याम जी भजन लिरिक्स

  • by
0 3341

लाज बचाता है गले लगाता है

मुझे अपने हाथों से
संभालता है श्याम
मेरी हर मुसीबत को भी
टालता है श्याम
माँगना पड़ता नहीं है मुझे
दे रहा बिन बोले सब कुछ मुझे।।

फिल्मी तर्ज भजन : तुमसे जुदा होकर।

झुकने नहीं देता है
मेरे सिर को कभी बाबा
संकट की घड़ियों में
खड़ा रहता है बाबा
करके दया मुझपे
मुझे पालता है श्याम
मेरी हर मुसीबत को भी
टालता है श्याम
माँगना पड़ता नहीं है मुझे
दे रहा बिन बोले सब कुछ मुझे।।

औकात से ज़्यादा
देता रहा मुझको
पूछे सदा मुझसे
क्या दर्द है तुझको
गिरने जो लगता हूँ
मुझे थामता है श्याम
मेरी हर मुसीबत को भी
टालता है श्याम
माँगना पड़ता नहीं है मुझे
दे रहा बिन बोले सब कुछ मुझे।।

मेरी सोई किस्मत को
बाबा ने जगाया है
बनके खिवैया भी
मुझे पार लगाया है
मझधार से मुझको
निकालता है श्याम
मेरी हर मुसीबत को भी
टालता है श्याम
माँगना पड़ता नहीं है मुझे
दे रहा बिन बोले सब कुछ मुझे।।

जो हुए गुनाह मुझसे
हरी उनको भुलाता है
पग पग पे समझाता
मुझे गले लगाता है
पर्दा गुनाहों पे
मेरे डालता है श्याम
मेरी हर मुसीबत को भी
टालता है श्याम
माँगना पड़ता नहीं है मुझे
दे रहा बिन बोले सब कुछ मुझे।।

लाज बचाता है गले लगाता है
मुझे अपने हाथों से
संभालता है श्याम
मेरी हर मुसीबत को भी
टालता है श्याम
माँगना पड़ता नहीं है मुझे
दे रहा बिन बोले सब कुछ मुझे।।

Leave a Reply

Your email address will not be published.