राम लखन सिय वन को जाते हैं Ram Lakhan Siya Van Ko Jate Hain Lyrics In Hindi- Ramayan

collection of Bhakti songs lyrics.

Ram Lakhan Siya Van Ko Jate Hain Song Lyrics Description From- Ramayan

Lyrics Title: Ram Lakhan Siya Van Ko Jate Hain
Serial: Ramayan
TV: Doordarshan

राम लखन सिय वन को जाते हैं Ram Lakhan Siya Van Ko Jate Hain Song Lyrics In Hindi:

ब्याकुल दशरथ के लगे
रच के पच पर नैन
रच बिहीन बन बन फिरे
राम सिया दिन रैन
विधिना ना तेरे लेख किसी की
समझ ना आते हैं

जन जन के प्रिय राम लखन सिया
वन को जाते हैं

जन जन के प्रिय राम लखन सिया
वन को जाते हैं

हो विधिना ना तेरे लेख किसी की
समझ ना आते हैं

एक राजा के रज दुलरे
वन वन फिरते मारे मारे

एक राजा के रज दुलरे
वन वन फिरते मारे मारे

होनी हो कर रहे करम गति
डरे नहीं क़ाबू के टारे

सबके कस्ट मिटाने वाले
कस्ट उठाते हैं

जन जन के प्रिय राम लखन सिया
वन को जाते हैं

हो विधिना ना तेरे लेख किसी की
समझ ना आते हैं

उभय बीच सिया सोहती कैसे
ब्रह्म जीव बीच माया जैसे
फूलों से चरणों में काँटे
विधिना क्यूँ दुःख दिने ऐसे

पग से बहे लहू की धारा
हरी चरणों से गंगा जैसे

संकट सहज भाव से सहते
और मुसकते हैं

जन जन के प्रिय राम लखन सिया
वन को जाते हैं

हो विधिना ना तेरे लेख किसी की
समझ ना आते हैं

हो विधिना ना तेरे लेख किसी की
समझ ना आते हैं

जन जन के प्रिय राम लखन सिय
वन को जाते हैं

जन जन के प्रिय राम लखन सिया
वन को जाते हैं

Other Aarti Lyrics:

Official Music Video of Ram Lakhan Siya Van Ko Jate Hain:

Leave a Reply