Skip to content

मैं तो सब देवा ने छोड़ रामसा ने ध्यावा भजन राजस्थानी भजन लिरिक्स

  • by
0 1232

मैं तो सब देवा ने छोड़ रामसा ने ध्यावा,

श्लोक – रामा कहू के रामदेव,
हीरा कहू के लाल,
ज्याने मिलिया रामदेव,
पल में किया न्याल,
धरती रो कागज़ बने,
समुन्द्र बने दवात,
लिखने वाली सरस्वती,
फिर भी लिखियो ना जाए।।

मैं तो सब देवा ने छोड़ रामसा ने ध्यावा,
म्हारे मन रे विणा पर थारी वाणी गावा,
मैं तो सब देवा ने छोड़ रामसा ने ध्यावा।।

ना जाऊ में काशी मथुरा ना कोई तीर्थ धाम,
रोम रोम में रम गयो म्हारे रामदेव रो नाम,
मैं तो सारे जग ने छोड़ थारे शरणे आया,
मैं तो सब देवा ने छोड़ रामसा ने ध्यावा।।

भक्ता पर तो भीड़ पड़ी थी आकर लाज बचावो,
आंधलिया पांगलिया री प्रभु थे तो आन निभावो,
मे तो गावो घर घर गीत धजा थारी फेहरावा,
मैं तो सब देवा ने छोड़ रामसा ने ध्यावा।।

ना कोई ऊँचो ना कोई नीचो ना कोई छुआ छूत,
भेद भाव सब बाता झूठी साची मानव जात,
म्हारे मन उपजावो ग्यान प्रभु में तीर जावा,
मैं तो सब देवा ने छोड़ रामसा ने ध्यावा।।

मैं तो सब देवा ने छोड़ रामसा ने ध्यावा,
म्हारे मन रे विणा पर थारी वाणी गावा,
मैं तो सब देवा ने छोड़ रामसा ने ध्यावा।।

  1. मारग चुनियो रे सत पर चालनो राजा हरिशचंद्र भजन राजस्थानी भजन लिरिक्स
  2. रामजी की महिमा कितनी निराली दो अक्षर के नाम की राजस्थानी भजन लिरिक्स
  3. शिव शंकर को ब्याह प्रेम सु गावों भाई कथा राजस्थानी भजन लिरिक्स
  4. महाशिवरात्रि रा शिवजी ने मनावण चाला राजस्थानी भजन लिरिक्स
  5. मै तो आया आया थारे दरबार गुरूवर म्हारा ओ राजस्थानी भजन लिरिक्स
  6. हे माँ तेरी जय हो तेरे अटल छत्र की जय जय हो
  7. रमक झमक कर आवो गजानन भजन राजस्थानी भजन लिरिक्स
  8. अयोध्या नगरी आज सोने री भई भजन राजस्थानी भजन लिरिक्स
  9. बाबो जाणे रे भाया बाबो जाणे भजन राजस्थानी भजन लिरिक्स
  10. भगति दोरी रे भगति वाली बातां करबो सोरी रे राजस्थानी भजन लिरिक्स

Leave a Reply

Your email address will not be published.