Skip to content

मेरे सीने में बसे है जानकी संग राम जी भजन लिरिक्स

0 1748

हनुमान भजन मेरे सीने में बसे है जानकी संग राम जी भजन लिरिक्स
Singer – Baljeet Singh
तर्ज – दिल से दिल भरकर ना देखि।

मेरे सीने में बसे है,
जानकी संग राम जी,
मैं जहाँ देखूं नजर,
आते है मुझको राम जी,
मेरे सींने में बसे है,
जानकी संग राम जी।।

एक पल जो राम रूठे,
तो मैं जी ना पाऊंगा,
एक पल जो राम रूठे,
तो मैं जी ना पाऊंगा,
साँसे है धड़कन है मेरी,
जिंदगी है राम जी,
मेरे सींने में बसे है,
जानकी संग राम जी।।

हिरे मोती सोना चांदी,
मुझको कुछ ना चाहिए,
हिरे मोती सोना चांदी,
मुझको कुछ ना चाहिए,
मिल गया माणिक मुझे जो,
मिल गए है राम जी,
मेरे सींने में बसे है,
जानकी संग राम जी।।

डर नहीं जब काल से भी,
फिर किसी से क्यों डरूं,
डर नहीं जब काल से भी,
फिर किसी से क्यों डरूं,
मेरे संग ‘बलजीत’ हरपल,
रहते है मेरे राम जी,
मेरे सींने में बसे है,
जानकी संग राम जी।।

मेरे सीने में बसे है,
जानकी संग राम जी,
मैं जहाँ देखूं नजर,
आते है मुझको राम जी,
मेरे सींने में बसे है,
जानकी संग राम जी।।

Leave a Reply

Your email address will not be published.