Skip to content

मेरे बांके बिहारी बड़े प्यारे लगते कही नज़र न लगे इनको हमारी

  • by
0 2208

मेरे बांके बिहारी बड़े प्यारे लगते,
कही नज़र न लगे इनको हमारी,
मेरे कुंज बिहारी बड़े प्यारे लगते,
कही नज़र न लगे इनको हमारी।।

पीला पटका बिहारीजी का प्यारा लगता,
हार फूलो का गले मे प्यारा लगता,
कही नज़र न लगे इनको हमारी,
मेरे बाँके बिहारी बड़े प्यारे लगते,
कही नज़र न लगे इनको हमारी।।

मोर मुकट सांवरे पे प्यारा लगता,
और कानों में कुण्डल प्यारे लगते,
कही नज़र न लगे इनको हमारी,
मेरे बाँके बिहारी बड़े प्यारे लगते,
कही नज़र न लगे इनको हमारी।।

कंगन बिहारी जी के प्यारे लगते,
सबको बंसी बजाते बड़े प्यारे,
कही नज़र न लगे इनको हमारी,
मेरे बाँके बिहारी बड़े प्यारे लगते,
कही नज़र न लगे इनको हमारी।।

कपिल चरणों मे तेरे सर झुकाता,
बार बार वृंदावन में चला आता,
कही नज़र न लगे इनको हमारी,
मेरे बाँके बिहारी बड़े प्यारे लगते,
कही नज़र न लगे इनको हमारी।।

मेरे बांके बिहारी बड़े प्यारे लगते,
कही नज़र न लगे इनको हमारी,
मेरे कुंज बिहारी बड़े प्यारे लगते,
कही नज़र न लगे इनको हमारी।।

Leave a Reply

Your email address will not be published.