Skip to content

मेरे अश्को से बाबा तेरा गहरा रिश्ता है भजन कृष्ण भजन लिरिक्स

  • by
0 1029

मेरे अश्को से बाबा,
तेरा गहरा रिश्ता है,
बहते है जब भी ये,
इनमे तू दीखता है,
मेरे अश्कों से बाबा,
तेरा गहरा रिश्ता है।।

सुन लो दुनिया वालों,
आंसू वो रवानी है,
बाबा से मिला दे जो,
बहता ये पानी है,
किस्मत को बदल दे जब,
चरणों में चढ़ता है,
मेरे अश्कों से बाबा,
तेरा गहरा रिश्ता है।।

इतिहास के पन्नो को,
देखो जो पलट के जरा,
मीरा नरसी सबके,
आंसू का कतरा गिरा,
शक्ति इसमें इतनी,
पत्थर भी हिलता है,
मेरे अश्कों से बाबा,
तेरा गहरा रिश्ता है।।

आँखों के आंसू को,
बाबा पढ़ लेते है,
बिन बोले ही दिल की,
बातें सुन लेते है,
‘राखी’ क्या बयां करूँ,
यहाँ सबकुछ मिलता है,

मेरे अश्कों से बाबा,
तेरा गहरा रिश्ता है।।

मेरे अश्को से बाबा,
तेरा गहरा रिश्ता है,
बहते है जब भी ये,
इनमे तू दीखता है,
मेरे अश्कों से बाबा,
तेरा गहरा रिश्ता है।।

Leave a Reply

Your email address will not be published.