मेरी छोटी मालन कलियां लइयो नदन वन से

दुर्गा माँ भजन मेरी छोटी मालन कलियां लइयो नदन वन से

मेरी छोटी मालन,
कलियां लइयो नदन वन से,
मोरी छोटी मालन,
कलियां लइयो नदन वन से,
नदन वन से हो सहस वन से,
मोरी छोटी मालन,
कलियां लइयो नदन वन से।।

अस्सी कोश वन भीकम उजाड़,
अरे जहां माई दुर्गा लगा दई फुलवार,
मोरी छोटी मालन,
कलियां लइयो नदन वन से।।

सोने की कलसिया मैया दईयो गढवाए,
अरे फुलवा सींचन मालन बेटी जाए,
मोरी छोटी मालन,
कलियां लइयो नदन वन से।।

फुलवा को सींचत मैया हो गई शाम,
अरे रात बसेरा माई दुर्गा के पास,
मोरी छोटी मालन,
कलियां लइयो नदन वन से।।

सोने की खुरपिया मैया दईयो गढ़वाए,
अरे फुलवा तोड़न मालन बेटी जाए,
मोरी छोटी मालन,
कलियां लइयो नदन वन से।।

सोने की टोकरिया मैया दईयो गढवाए,
अरे फुलवा चुनन मेरी मालन बेटी जाए,
मोरी छोटी मालन,
कलियां लइयो नदन वन से।।

फुलवा के बीनत मैया हो गई शाम,
अरे रात बसेरो माई दुर्गा के पास,
मोरी छोटी मालन,
कलियां लइयो नदन वन से।।

सुमर सुमर मैया तेरे जस गाए,
भोर रहे चरण चितलाए,
मोरी छोटी मालन,
कलियां लइयो नदन वन से।।

जय जय बोलो मेरी आदि भवानी,
जय बोलो हिंगलाज,
मोरी छोटी मालन,
कलियां लइयो नदन वन से।।

मेरी छोटी मालन,
कलियां लइयो नदन वन से,
मोरी छोटी मालन,
कलियां लइयो नदन वन से,
नदन वन से हो सहस वन से,
मोरी छोटी मालन,
कलियां लइयो नदन वन से।।

This Post Has One Comment

Leave a Reply