Skip to content

मेरा गुरु लागे मोय प्यारा भजन राजस्थानी भजन लिरिक्स

  • by
0 1405

मेरा गुरु लागे मोय प्यारा,

दोहा – सुंदर सतगुरु वन्दिये,
वन्दन सोही योग,
औषध शब्द पिलाय के,
दूर किया सब रोग।
राम रुपया रोकड़ा,
खरच्या खूटे नाय,
सायब सरीखा सेठिया,
बसे नगर के माय।

मेरा गुरु लागे मोय प्यारा,
शब्द सुणावै भ्रम मिटावे,
करे जगत से न्यारा।।

परमार्थ ले जग में आया,
अलख खजाना लाया,
बाँट बाँट ने सब कोही खाया,
खाया लाया पाया,
मेरा गुरु लागे मोहे प्यारा।।

जोग जुगत री सोई विधि जाणे,
बात कछु नहीं छाने,
मन पवना उल्टा कर आणे,
आणे जाणे छाणे,
मेरा गुरु लागे मोहे प्यारा।।

पाँचो इंद्री वश कर राखे,
सुन्न सदा रस चाखे,
वाणी ब्रह्म सदा मुख भाखे,
भाखे राखे चाखे,
मेरा गुरु लागे मोहे प्यारा।।

परम् पुरुष प्रगटिया आदू,
शब्द सुणाया नादू,
सुंदर कहे मेरे सतगुरु दादू,
दादू आद अनादू,
मेरा गुरु लागे मोहे प्यारा।।

मेरा गुरु लागें मोय प्यारा,
शब्द सुणावै भ्रम मिटावे,
करे जगत से न्यारा।।

More bhajans Songs Lyrics IN HINDI

  1. जाऊं मैं सतगुरु ने बलहारी भजन राजस्थानी भजन लिरिक्स
  2. रुणिचे वाला थे ही हो म्हारा जनम सुधारन थे ही हो
  3. प्रथमं सुमरन हो रे गजानन गणपति वंदना राजस्थानी भजन लिरिक्स
  4. जिनके राम भरोसा भारी उनको डर नहीं लागे रे राजस्थानी भजन लिरिक्स
  5. ओ जी मोटा देवता शनि महाराजा आया धरती पर
  6. हे गुरुदेव आपको क्या दूँ वस्तु मैं उपहार में राजस्थानी भजन लिरिक्स
  7. दिलदार यार म्हाने तो निभानो पड़सी भजन राजस्थानी भजन लिरिक्स
  8. नेडा नेडा रेजो दूर मती जईजो मारवाड़ी भजन राजस्थानी भजन लिरिक्स
  9. जग घूमिया माँ के जैसा ना कोई भजन राजस्थानी भजन लिरिक्स

Leave a Reply

Your email address will not be published.