मुख से बोल दे सांवरिया तन्ने कुण सजायो रे घनश्याम भजन लिरिक्स

मुख से बोल दे सांवरिया
तन्ने कुण सजायो रे
मुख से बोल दें
देख तेरे श्रृंगार ने चंदा
देख तेरे श्रृंगार ने चंदा
भी शरमायो रे
मुख से बोल दें
मुख से बोल दें सांवरिया
तन्ने कुण सजायो रे
मुख से बोल दें।।

मोर मुकुट कानो में कुंडल
गल वैजन्ती सोहे रे
केसरिया टिको माथे पर
केसरिया टिको माथे पर
खूब लगायो रे
मुख से बोल दें
मुख से बोल दें सांवरिया
तन्ने कुण सजायो रे
मुख से बोल दें।।

बाजूबंद बड़ा ही सोणा
हाथ में कंगन खनके रे
तू चितचोर चुरा के मनडो
तू चितचोर चुरा के मनडो
क्यों मुस्कायो रे
मुख से बोल दें
मुख से बोल दें सांवरिया
तन्ने कुण सजायो रे
मुख से बोल दें।।

पीत बसन पर फेंटो सोहे
होंठ पे मुरली प्यारी रे
जादुगारो रूप निरख कर
जादुगारो रूप निरख
मनडो हर्शायो रे
मुख से बोल दें
मुख से बोल दें सांवरिया
तन्ने कुण सजायो रे
मुख से बोल दें।।

नजर सांवरा लग ना जावे
हर्ष बड़ो घबरावे रे
यही सोचकर कालो टिको
यही सोचकर कालो टिको
आज लगायो रे
मुख से बोल दें
मुख से बोल दें सांवरिया
तन्ने कुण सजायो रे
मुख से बोल दें।।

मुख से बोल दे सांवरिया
तन्ने कुण सजायो रे
मुख से बोल दें
देख तेरे श्रृंगार ने चंदा
देख तेरे श्रृंगार ने चंदा
भी शरमायो रे
मुख से बोल दें
मुख से बोल दें सांवरिया
तन्ने कुण सजायो रे
मुख से बोल दें।।

Singer : Priyanka Sonkar

Leave a Reply