Skip to content

भादवे री बीज रो रुनिचे मेलो आ गयो भजन राजस्थानी भजन लिरिक्स

  • by
0 1258

भादवे री बीज रो रुनिचे मेलो आ गयो,
कलयुग रो अवतारी बाबो,
पगला सु पुजवा गयो,
हर हर गूँजे रे जयकारों थारे नाम रो,
हर हर गूँजे रे जयकारों थारे नाम रो।।

भले जावो द्वारका,
भले जावो रामा पीर रे,
साचे मन सु ध्यावे,
जिनरी बाबो मेटे पीड़ रे,
हर हर गूँजे रे जयकारों थारे नाम रो,
हर हर गूँजे रे जयकारों थारे नाम रो।।

अजमल घर अवतार लियो,
थे कलयुग रा अवतार रे,
परसा दिनों बावसी,
कंकु रा पगला मंडा व्या,
हर हर गूँजे रे जयकारों थारे नाम रो,
हर हर गूँजे रे जयकारों थारे नाम रो।।

पापियों ने मारिया थे,
दुष्टों ने भगाय,
जन्म लियो धरती पे,
भगतो री किनी सहाय,
हर हर गूँजे रे जयकारों थारे नाम रो,
हर हर गूँजे रे जयकारों थारे नाम रो।।

भादवा रा मेला में,
आवे भीड़ अपार,
दर्शन पावे जातरी ने,
पल में करदे न्याल,
हर हर गूँजे रे जयकारों थारे नाम रो,
हर हर गूँजे रे जयकारों थारे नाम रो।।

बाबा थारा जागरण में,
नाचे नर और नार,
लाछा सुगणा करे आरती,
भाटी चवर ढुलाए,
हर हर गूँजे रे जयकारों थारे नाम रो,
हर हर गूँजे रे जयकारों थारे नाम रो।।

भादवे री बीज रो रुनिचे मेलो आ गयो,
कलयुग रो अवतारी बाबो,
पगला सु पुजवा गयो,
हर हर गूँजे रे जयकारों थारे नाम रो,
हर हर गूँजे रे जयकारों थारे नाम रो।।

Leave a Reply

Your email address will not be published.