भजले राम राधेश्याम सीताराम भजले भजन लिरिक्स

भजन भजले राम राधेश्याम सीताराम भजले भजन लिरिक्स
तर्ज – सलामे इश्क़ मेरी जा जरा।

भजले राम राधेश्याम,
सीताराम भजले,
जिंदगानी का कोई भरोसा नहीं,
जिंदगानी का कोई भरोसा नहीं,
जिंदगानी का कोई भरोसा नहीं,
भजले राम राधे-श्याम,
सीताराम भजले,
जिंदगानी का कोई भरोसा नहीं।।

बाली बलवान था,
बल का अभिमान था,
बाली बलवान था,
बल का अभिमान था,
वो भी मारा गया राम के बाणों से,
वो भी मारा गया राम के बाणों से,
भजले राम राधे-श्याम,
सीताराम भजले,
जिंदगानी का कोई भरोसा नहीं।।

रावण बलवान था,
बल का अभिमान था,
रावण बलवान था,
बल का अभिमान था,
वो भी मारा गया राम के हाथों से,
वो भी मारा गया राम के हाथों से,
भजले राम राधे-श्याम,
सीताराम भजले,
जिंदगानी का कोई भरोसा नहीं।।

कंस बलवान था,
बल का अभिमान था,
कंस बलवान था,
बल का अभिमान था,
वो भी मारा गया कृष्ण के हाथों से,
वो भी मारा गया कृष्ण के हाथों से,
भजले राम राधे-श्याम,
सीताराम भजले,
जिंदगानी का कोई भरोसा नहीं।।

भजले राम राधेश्याम,
सीताराम भजले,
जिंदगानी का कोई भरोसा नहीं,
जिंदगानी का कोई भरोसा नहीं,
जिंदगानी का कोई भरोसा नहीं,
भजले राम राधे-श्याम,
सीताराम भजले,
जिंदगानी का कोई भरोसा नहीं।।

Leave a Reply