Skip to content

बाबा तुम्हारे दिल में बस ये प्यार कम न हो

  • by
0 1936

बाबा तुम्हारे दिल में बस,
ये प्यार कम न हो,
तुमसे बिछड़ना हो लिखा,
उस रात हम न हो,
बाबा तुम्हारे दिल में।।

तुमने हटाया हाथ तो,
हो जाए ख़ाक हम,
पड़ जाए आपकी नजर,
बन जाए लाख हम,
तुम थामो जो हाथ सांवरे,
जीवन में गम न हो,
तुमसे बिछड़ना हो लिखा,
उस रात हम न हो,
बाबा तुम्हारे दिल में।।

माता पिता बंधू सखा,
सबकुछ ही आप हो,
सांसो में चलती रहती उस,
माला का जाप हो,
सच है ये मान लो कहीं,
तुमको भरम न हो,
तुमसे बिछड़ना हो लिखा,
उस रात हम न हो,
बाबा तुम्हारे दिल में।।

ये मतलबी संसार है,
जंजाल में कसे,
पर कैसे रोऊँ सांवरे,
आँखों में तुम बसे,
आकाश के बादल की अब,
ये आँख नम न हो,
तुमसे बिछड़ना हो लिखा,
उस रात हम न हो,
बाबा तुम्हारे दिल में।।

बाबा तुम्हारे दिल में बस,
ये प्यार कम न हो,
तुमसे बिछड़ना हो लिखा,
उस रात हम न हो,
बाबा तुम्हारे दिल में।।

Leave a Reply

Your email address will not be published.