बाबा खोल किवाड़ तेरा टाबर करे पुकार भजन घनश्याम भजन लिरिक्स

बाबा खोल किवाड़
तेरा टाबर करे पुकार
दिन गिन महीना बीत गया
ना होवे इंतजार
दिन गिन महीना बीत गया
ना होवे इंतजार।।

फिल्मी तर्ज भजन: सावन का महीना।

तेरे दरश को व्याकुल
नैना ये तरसे
याद में तेरी
सारी सारी रात बरसे
सावन में भी तुम बिन
ना है कोई बहार
दिन गिन महीना बीत गया
ना होवे इंतजार।।

गलती हुई क्या हमसे
इतना बता दो
नादान है हमें अब ना
इतनी सजा दो
तुम बिन सब सुना है
जीवन लागे बेकार
दिन गिन महीना बीत गया
ना होवे इंतजार।।

फागुण के पाछे बाबा
हमे क्यों भुलाई
पीहर है म्हारो खाटू
काहे न बुलाई
बाबुल से मिलने को
मिक्कू है बेकरार
दिन गिन महीना बीत गया
ना होवे इंतजार।।

बाबा खोल किवाड़
तेरा टाबर करे पुकार
दिन गिन महीना बीत गया
ना होवे इंतजार
दिन गिन महीना बीत गया
ना होवे इंतजार।।

Singer : Pinki Ji Gehlot

Leave a Reply