Skip to content

बस गए रघुनंदन सरकार हो रही जग में जय जयकार लिरिक्स

0 88

भजन बस गए रघुनंदन सरकार हो रही जग में जय जयकार लिरिक्स
Singer – Mukesh Kumar
तर्ज – गोरी कब से हुई।

बस गए रघुनंदन सरकार,
हो रही जग में जय जयकार,
मेरे राम मेरे राम,
मेरे रघुनंदन सरकार,
बस गये रघुनंदन सरकार,
हो रही जग में जय जयकार।।

पूरी अयोध्या कहलाती है,
राम जनम की भूमि,
जहाँ राम ने जन्म लिया है,
हिन्दू धरम की भूमि,
हर एक हिन्दू का अरमान,
मंदिर बनेगा आलिशान,
बस गये रघुनंदन सरकार,
हो रही जग में जय जयकार।।

बैर करे जो श्रीराम से,
वह रावण कहलाये,
बजरंग दल से जो टकराए,
लंका सा जल जाये,
आंधी आये या तूफ़ान,
बच्चा बच्चा है कुर्बान,
बस गये रघुनंदन सरकार,
हो रही जग में जय जयकार।।

इस मंदिर में राम की मूरत,
होगी प्यारी प्यारी,
राम सेवकों की क़ुरबानी,
करेगी सेवा दारी,
गाओ राम का गुण गान,
होगा होगा जगकल्याण,
बस गये रघुनंदन सरकार,
हो रही जग में जय जयकार।।

बस गए रघुनंदन सरकार,
हो रही जग में जय जयकार,
मेरे राम मेरे राम,
मेरे रघुनंदन सरकार,
बस गये रघुनंदन सरकार,
हो रही जग में जय जयकार।।

Leave a Reply

Your email address will not be published.