बनो मारो चारभुजा रो नाथ लिरिक्स

बनो मारो चारभुजा रो नाथ लिरिक्स बनो मारो चारभुजा रो नाथ लिरिक्स bano maro charbhuja ro nath bhajan,jagdish vaishnav bhajan ,rajasthani dj bhajan

बनो मारो चारभुजा रो नाथ,
बनी मारी तुलचा लाड़ली। २

विनायक रिध्धि सिद्धि संग लाया,
ओ विनायक
रसोड़े कुबेर भंडार बुलाया। २
गन्धर्व गीत गजब का गाय, …
बनो मारो चारभुजा रो नाथ,
बनी मारी तुलछा लाड़ली। २

हरे देव जी परसु देव हरसाया ,
यसोदा नन्द जी पाठ बिठाया। २
सूरा गीता जी जस गाय ।
बनो मारो चारभुजा रो नाथ,
बनी मारी तुलछा लाड़ली। २

बाराती शिव ब्रह्मा संग आया ओ ,
गरुड़ चढ़ लक्मी पति भी आया। २
रावत इंद्र चढ़ आया ।
बनो मारो चारभुजा रो नाथ,
बनी मारी तुलछा लाड़ली। २

बिहारी गुरु गोविन्द बन आया ,
चेतन मन का फूल बिछाया ,२
भागता मिल भगवत को सजाया।
बनो मारो चारभुजा रो नाथ,
बनी मारी तुलछा लाड़ली। २

बनो मारो चारभुजा रो नाथ,
बनी मारी तुलछा लाड़ली। २

jagdish vaishnav ke bhajan

भजन :- बनो मारो चारभुजा रो नाथ
गायक :- जगदीश वैष्णव

This Post Has One Comment

Leave a Reply