पार होगा वही जिसे पकड़ोगे राम भजन लिरिक्स

राम भजन पार होगा वही जिसे पकड़ोगे राम भजन लिरिक्स
तर्ज – काम होगा वही जिसे चाहोगे राम।

पार होगा वही,
जिसे पकड़ोगे राम,
जिसको छोड़ोगे,
पलभर में डूब जाएगा।।

तिरना क्या जाने,
पत्थर बेचारे,
तिरने लगे तेरे,
नाम के सहारे,
नाम लिखते आ गए है,
पत्थर में प्राण,
जिसको छोड़ोगे,
पलभर में डूब जाएगा।

पार होगा वहीँ,
जिसे पकड़ोगे राम,
जिसको छोड़ोगे,
पलभर में डूब जाएगा।।

लंका जलाई,
लांघा समुन्दर,
राक्छस को मार आया,
छोटा सा बन्दर,
बस जपता रहा,
दिन रात तेरा नाम,
जिसको छोड़ोगे,
पलभर में डूब जाएगा।

पार होगा वहीँ,
जिसे पकड़ोगे राम,
जिसको छोड़ोगे,
पलभर में डूब जाएगा।।

सुनकर के बाते,
मुस्काए राम जी,
मारे ख़ुशी के नाचे,
हनुमान जी,
भक्त देखा ना,
बनवारी तेरे समान,
जिसको छोड़ोगे,
पलभर में डूब जाएगा।

पार होगा वहीँ,
जिसे पकड़ोगे राम,
जिसको छोड़ोगे,
पलभर में डूब जाएगा।।

पार होगा वही,
जिसे पकड़ोगे राम,
जिसको छोड़ोगे,
पलभर में डूब जाएगा,
जिसको छोड़ोगे,
पलभर में डूब जाएगा।।

Leave a Reply