पंछी नदियाँ पवन के झोंके Panchi Nadiya Pawan Ke Lyrics In Hindi– Refugee

collection of Bollywood songs lyrics.

Panchi Nadiya Pawan Ke Song Lyrics Description From Movie- Refugee

Lyrics Title: Panchi Nadiya Pawan Ke
Movie: Refugee
Singers: Sonu Nigam, Alka Yagnik
Lyrics: Javed Akhtar
Music: Anu Malik
Music Company: Saregama.

पंछी नदियाँ पवन के झोंके Panchi Nadiya Pawan Ke Song Lyrics In Hindi:

ऊपर वाले ने अपनी मोहब्बत के सदके में
हम सबके लिए ये धरती बनाई थी
पर मोहब्बत के दुश्मनों ने
इस पर लकीरें खीच के सरहदें बना दी

मैं जानता हूँ वो लोग तुम्हें इस पार नहीं आने देंगे
मगर ये पवन जो तुम्हारे यहाँ से होकर आयी है
तुम्हें छू कर आयी होगी
मैं इसे साँस बना कर अपने सीने में भर लूँगा

ये नदियाँ जिसपर झुक कर तुम पानी पिया करते हो
मैं इसके पानी से अपने प्यासे होंठों को भिगो लूँगी
समझूँगी तुम्हारे होंठों को छू लिया

पंछी, नदियाँ, पवन के झोंके
कोई सरहद ना इन्हें रोके

पंछी, नदियाँ, पवन के झोंके
कोई सरहद ना इन्हें रोके
सरहदें इंसानों के लिए हैं
सोचो तुमने और मैंने क्या पाया इंसाँ होके

पंछी, नदियाँ, पवन के झोंके
कोई सरहद ना इन्हें रोके
सरहदें इंसानों के लिए हैं
सोचो तुमने और मैंने क्या पाया इंसाँ होके

जो हम दोनों पंछी होते
तैरते हम इस नील गगन में पंख पसारे
सारी धरती अपनी होती
अपने होते सारे नज़ारें

खुली फ़िज़ाओं में उड़ते
खुली फ़िज़ाओं में उड़ते
अपने दिलों में हम सारा प्यार समाँ के

पंछी, नदियाँ, पवन के झोंके
कोई सरहद ना इन्हें रोके
सरहदें इंसानों के लिए हैं
सोचो तुमने और मैंने क्या पाया इंसाँ होके

जो मैं होती नदियाँ और तुम पवन के झोंके तो क्या होता
हो, जो मैं होती नदियाँ और तुम पवन के झोंके तो क्या होता
पवन के झोंके नदी के तन को जब छूते हैं
पवन के झोंके नदी के तन को जब छूते हैं

लहरें ही लहरें बनती हैं
हम दोनों जो मिलते तो कुछ ऐसा होता
सब कहते, “ये लहर-लहर जहाँ भी जाए इनको ना कोई टोके”

पंछी, नदियाँ, पवन के झोंके
कोई सरहद ना इन्हें रोके
सरहदें इंसानों के लिए हैं
सोचो तुमने और मैंने क्या पाया इंसाँ होके

पंछी, नदियाँ, पवन के झोंके
कोई सरहद ना इन्हें रोके

Refugee Movie Other Song Lyrics :

Official Music Video of Panchi Nadiya Pawan Ke:

http://www.youtube.com/watch?v=FVBgbuw6j14

Leave a Reply