Skip to content

नव सौ नव सौ बैल घर में संत रविदास राजस्थानी भजन

  • by
fb-site

नव सौ नव सौ बैल घर घर में,
ए घोडा किन रा बांधिया हो।।

श्लोक – भक्त बिज पलटे नही,
जो जुग जाए एकांत,
ऊँच नीच घर अवतारे,
वो रहे संत रो संत।

नव सौ नव सौ बैल घर घर में,
ए घोडा किन रा बांधिया हो,
राणा रा तांगा कहिजे बैल मीरा,
घर घर में ए घोडा वही बांधिया हो।।

रमे खेले ने घरे आव मीरा,
राणोजी आया है थाने लेवन ने हो,
कुन तो राणो ने कुन है राम,
जुग में किन रे राजा रा कहिजे दिकरा हो।।

हस ने मुलखेनी मीठी बोल मीरा,
ओछी उम्र में थोड़ो जीवनो जी,
जोगण हो जाऊं जग रे माय,
राणा गूथ लावुला हरी रा सेवरा हो जी।।

बांधो गलेरे नवसर हार मीरा,
सुडला पेरो थी हस्थी दाँत रा हो जी,
सुडला थारी रानी ने पेराव राणा,
मीरा पेरेला हरी रा लुंगड़ा हो जी,
तटके तोड़ू नवसर हार राणा,
गढ़ री सीखा सु तोड़ू सुडला हो जी।।

रविदास दीना है उपदेश राणा,
साधू दिया है हरी रा लुंगड़ा हो जी,
ओशी समारा वाली जात मीरा,
मुया ढोरारा काटे सांबड़ा हो जी।।

रविदास कहिजे मायड़ बाप राणा,
मेतो संतो रे पग री मोजड़ी हो जी,
गावे गावे मीरा बाई आप भाईडा,
गुरु रविदास ज्याने भेटिया हो जी।।

नव सौ नव सौ बैल घर घर मे,
ए घोडा किन रा बांधिया हो,
राणा रा तांगा कहिजे बैल मीरा,
घर घर में ए घोडा वही बांधिया हो।।

More bhajans Songs Lyrics IN HINDI

  1. नदिया रा नीर सांवरा रोक ने बतावा भजन राजस्थानी भजन लिरिक्स
  2. बाबा श्याम के दरबार मची रे होली भजन राजस्थानी भजन लिरिक्स
  3. गर जोर मेरो चाले हिरे मोत्या से नजर उतार द्यु भजन राजस्थानी भजन लिरिक्स
  4. काया ने सिंगार कोयलिया पर मंडली मत जइजो रे
  5. फागण आयो है रंगीलो रंग डारो श्याम जी भजन राजस्थानी भजन लिरिक्स
  6. सांवरिया आपा होली तो खेला रे भजन राजस्थानी भजन लिरिक्स
  7. लेतो जा तू लेतो जा बाबा रो नाम लेतो जा राजस्थानी भजन लिरिक्स
  8. दिल्ली घुम्यो मुंबई घुम्यो मैं घुम्यो गुजराता में
  9. ओ बीरा आ रे बिरा आजा रे एक बार राजस्थानी भजन लिरिक्स
  10. आओ जी गणराज विनायक बैठो बेगा पाट ठाट तुम कर देना

Leave a Reply

Your email address will not be published.