नदी किनारे नारियल है रे भाई नारियल है रे भजन लिरिक्स

नदी किनारे नारियल है रे भाई,
नारियल है रे,
ओ म्हारी कालिका माँ ने काज रे,
भाई नारियल है रे,
नदी किनारे नारियल है रे,
भाई नारियल है रे।।

पहलो यो नारियल नवरंगी रे भाई,
नवरंगी रे,
पहलो यो नारियल नवरंगी रे भाई,
नवरंगी रे,
हो म्हारी कालिका माँ के वास्ते रे,
नवरंगी रे,
नदी किनारे नारियल पेड़ भाई,
भाई नारियल है रे।।

दूजो यो नारियल नवरंगी रे भाई,
नवरंगी रे,
दूजो यो नारियल नवरंगी रे भाई,
नवरंगी रे,
हो म्हारी बहुचर माँ के वास्ते रे,
नवरंगी रे,
नदी किनारे नारियेरी रे भाई,
भाई नारियल है रे।।

तीसरो यो नारियल नवरंगी रे भाई,
नवरंगी रे,
तीसरो यो नारियल नवरंगी रे भाई,
नवरंगी रे,
हो म्हारी अम्बा माँ के वास्ते रे,
नवरंगी रे,
नदी किनारे नारियेरी रे भाई,
भाई नारियल है रे।।

चोथो यो नारियल नवरंगी रे भाई,
नवरंगी रे,
चोथो यो नारियल नवरंगी रे भाई,
नवरंगी रे,
हो म्हारी मेलड़ी माँ के वास्ते रे,
नवरंगी रे,
नदी किनारे नारियेरी रे भाई,
भाई नारियल है रे।।

पांचवो यो नारियल नवरंगी रे भाई,
नवरंगी रे,
पांचवो यो नारियल नवरंगी रे भाई,
नवरंगी रे,
हो म्हारी खोड़ियार माँ के वास्ते रे,
नवरंगी रे,
नदी किनारे नारियेरी रे भाई,
भाई नारियल है रे।।

गरबा लिरिक्स नदी किनारे नारियल है रे भाई नारियल है रे भजन लिरिक्स
नदी किनारे नारियल है रे भाई नारियल है रे भजन लिरिक्स

Leave a Reply