Skip to content

नगरी नगरी द्वारे द्वारे ढूँढूँ रे सांवरिया भजन कृष्ण भजन लिरिक्स

  • by
fb-site

नगरी नगरी द्वारे द्वारे,
ढूँढूँ रे सांवरिया,
कृष्णा कृष्णा रट के मैं तो,
हो गई रे बावरिया,
नगरी नगरी द्वारें द्वारे,
ढूँढूँ रे सांवरिया।।

बेदर्दी मोहन ने हमको,
सौंपा ग़म की आग में,
बिरहा की चिंगारी भर दी,
दुखिया के संसार में,
पल-पल मनवा रोए छलके,
नैनों की गगरिया,
नगरी नगरी द्वारें द्वारे,
ढूँढूँ रे सांवरिया।।

आया थी अँखियों में लेकर,
सपने क्या-क्या प्यार के,
जाता हूँ दो आँसू लेकर,
आशाएं सब हार के,
दुनिया के मेले में लुट गई,
जीवन की गठरिया,
नगरी नगरी द्वारें द्वारे,
ढूँढूँ रे सांवरिया।।

दर्शन के दो भूखे नैना,
जीवन भर न सोएंगे,
बिछड़े मोहन तेरे कारण,
रातों को हम रोएंगे,
अब न जाने कृष्णा कैसे,
बीतेगी उमरिया,
नगरी नगरी द्वारें द्वारे,
ढूँढूँ रे सांवरिया।।

नगरी नगरी द्वारे द्वारे,
ढूँढूँ रे सांवरिया,
कृष्णा कृष्णा रट के मैं तो,
हो गई रे बावरिया,
नगरी नगरी द्वारें द्वारे,
ढूँढूँ रे सांवरिया।।

  1. किने सुनाऊं मन की बाता कोई ना श्याम हमारो है कृष्ण भजन लिरिक्स
  2. खाटू से चलकर आज मेरे घर आये लखदातार भजन कृष्ण भजन लिरिक्स
  3. बुला लो मुझको खाटू में मुझे तेरी याद आती है कृष्ण भजन लिरिक्स
  4. मेरे सांवरे कन्हैया मेरे बांके बिहारी भजन कृष्ण भजन लिरिक्स
  5. सेवक को अपने सांवरे यूँ ना सताइये भजन कृष्ण भजन लिरिक्स
  6. तुम रूठे रहो मोहन हम तुम्हे मना लेंगे भजन कृष्ण भजन लिरिक्स
  7. मेरे बाबा के द्वार सच्चे दिल से भजन कृष्ण भजन लिरिक्स
  8. मुझे सब कुछ तुमने दे दिया भजन कृष्ण भजन लिरिक्स

Leave a Reply

Your email address will not be published.