Skip to content

धर्म को डर नहीं दुनिया रे माई भजन लिरिक्स

  • by
0 451

धर्म को डर नहीं दुनिया रे माई भजन लिरिक्स dharam ko dar nahi duniya ke mai, gay mata bhajan

।। दोहा ।।
कौन जगत में एक है ,ओर कौन जगत दोह।
कौन जगत में हस रहा ,ओर कौन जग में रोय।।

धर्म को डर नहीं दुनिया रे माँय ,
धणियाँ बिना तो आज सूनी फिरे गाय ।
कटवाने चाली आज काना थारी गाय ,
सुणो – सुणो म्हारा सांवरा कुण करे सहाय ।।

समुद्र मंथन काम धेनु प्रगटाय ,
तन में तैतीस कोटी देवता समाय ।
गो से गोपाळ नाम सांवरो कहाय ,
सुणो – सुणो म्हारा सांवरा कुण करे सहाय ।।

गोबर भी शुद्ध यज्ञ आंगणो लिपाय ,
मूत्र भी पवित्र सर्व मंगला कहाय ।
दर्शन करता ही पाप मिट जाए ,
सुणो – सुणो म्हारा सांवरा कुण करे सहाय ।।

दूध है पवित्र सारा देवता नहाय ,
पंच गव्य रोगों ने तो जड़ सूं मिटाय ।
अनमोल हीरो आज कचरा में जाय ,
सुणो – सुणो म्हारा सांवरा कुण करे सहाय ॥

भोळी – भाली सूरत में ममता समाय ,
शक्ति स्वरूप गौ माता कहलाए ।।
सेवा बिना वैतरणी पार कैसे पाय ,
सुणो – सुणो म्हारा सांवरा कुण करे सहाय ॥

पति मर्या पाछे नारी विधवा हो जाए ,
बारहवा को ढोल बाजे गौ दरसाय ॥
गो नी मिले तो दीजो कूतरो दिखाय ,
सुणो – सुणो म्हारा सांवरा कुण करे सहाय ।।

टोळा का टोळा ने आगे घेरया जाय ,
गाय का श्राप सूं लंका लगी लाय ।
ओंकारो घर घर जाय समझाय ,
सुणो – सुणो म्हारा सांवरा कुण करे सहाय ।।

Gay Mata Bhajan hindi Lyrics

desi marwadi bhajan lyrics

भजन :- धरम को डर नहीं दुनिया रे माय
गायक :- विक्की मनचला

Leave a Reply

Your email address will not be published.