देखूंगी बाट तेरी भैया लेके राखी हाथों में भजन लिरिक्स

फिल्मी -तर्ज-भजन देखूंगी बाट तेरी भैया लेके राखी हाथों में भजन लिरिक्स
-तर्ज-– रिमझिम के गीत।

देखूंगी बाट तेरी भैया भैया,
लेके राखी हाथों में,
लेके राखी हाथों में।।

फर्ज भैया का तुझे है निभाना,
राखी के दिन बहन के घर आना,
जब तक भैया तू मेरे नहीं आएगा,
बहन खाएगी तेरी नहीं खाना,
मारेगी सास मेरी ताना ताना,
बातों ही बातों में,
बातों ही बातों में।।

तेरे हाथों में बाँधु धागा प्यार का,
दीप घी का जलाके करूँ आरतियां,
प्यार का भैया का मुझे मिल जाएगा,
चेहरा बहना का तेरी खिल जाएगा,
चमके रे जुगनू जैसे चमके चमके,
अँधेरी रातों में,
अँधेरी रातों में।।

सबसे पावन है रिश्ता बहन भाई का,
ज्ञान आर. के. को नहीं कविताई का,
बहन भैया को सदा याद आए,
भैया भी बिन बहन के ना रह पाए,
सबसे ही ये बड़ा नाता है नाता है,
,
रिश्ते और नातों में,
रिश्ते और नातों में।।

देखूंगी बाट तेरी भैया भैया,
लेके राखी हाथों में,
लेके राखी हाथों में।।

Leave a Reply