दिखे में मार टकर मर ज्यागी पर भोले संग ना जांगी

हरियाणवी भजन दिखे में मार टकर मर ज्यागी पर भोले संग ना जांगी
Singer – Narendra Kaushik Ji

दिखे में मार टकर मर ज्यागी,
पर भोले संग ना जांगी।।

रोज रोज भोला मन्ने,
गंगा में बुलावे,
गंगा में बुलावे,
ओडे गोते लगवावे,
मैं गंगा में बह जयांगी,
पर भोले संग ना ज्यंगी।।

रोज रोज भोला मन्ने,
बागा में बुलावे,
बागा में बुलावे,
ओडे भांग गुटवा व,
मैं गोट गोट मर जयांगी,
पर भोले संग ना ज्यंगी।।

रोज रोज भोला मन्ने,
पहाड़ा में बुलावे,
पहाड़ा में बुलावे,
ओडे झोपड़ी गल वा व,
मैं गाल गाल मर जयांगी,
पर भोले संग ना ज्यंगी।।

रोज रोज भोला,
माटी मंगवावे,
माटी मंगवावे,
चूल्हा गल वा व,
मैं चूल्हे में जल जयांगी,
पर भोले संग ना ज्यंगी।।

सारी सारी रात भोला,
कीर्तन करवावे,
कीर्तन करवावे,
वहा भजन गवावे,
मैं राग में बह ज्यांगी,
पर भोले संग ना ज्यंगी।।

दिखे में मार टकर मर ज्यागी,
पर भोले संग ना जांगी।।

Leave a Reply