Skip to content

दर्शन दो घनश्याम नाथ मोरी अँखियाँ प्यासी रे

  • by
0 1059

दर्शन दो घनश्याम नाथ मोरी, अँखियाँ प्यासी रे
मन मंदिर की जोत जगा दो, घट घट वासी रे ||

मंदिर मंदिर मूरत तेरी, फिर भी न देखी सूरत तेरी
युग बीते ना आई मिलन की पूरनमासी रे ||

द्वार दया का जब तू खोले, पंचम सुर में गूंगा बोले
अंधा देखे लंगड़ा चल कर पँहुचे काशी रे ||

पानी पी कर प्यास बुझाऊँ, नैनन को कैसे समजाऊँ
आँख मिचौली छोड़ो अब तो मन के वासी रे ||

निबर्ल के बल धन निधर्न के, तुम रखवाले भक्त जनों के
तेरे भजन में सब सुख़ पाऊं, मिटे उदासी रे ||

नाम जपे पर तुझे ना जाने, उनको भी तू अपना मान
तेरी दया का अंत नहीं है, हे दुःख नाशी रे ||

आज फैसला तेरे द्वार पर, मेरी जीत है तेरी हार पर
हर जीत है तेरी मैं तो, चरण उपासी रे ||

द्वार खडा कब से मतवाला, मांगे तुम से हार तुम्हारी
नरसी की ये बिनती सुनलो, भक्त विलासी रे ||

लाज ना लुट जाए प्रभु तेरी, नाथ करो ना दया में देरी
तिन लोक छोड़ कर आओ, गंगा निवासी रे ||

दर्शन दो घनश्याम नाथ मोरी, अँखियाँ प्यासी रे
मन मंदिर की जोत जगा दो, घट घट वासी रे ||

More bhajans Songs Lyrics IN HINDI

  1. दुनिया का बन कर देख लिया कान्हा का बन कर देख जरा
  2. मै फिरू श्याम तेरे नाम की जोगन बनके भजन कृष्ण भजन लिरिक्स
  3. कान्हा तुम्हारे प्यार ने जीना सीखा दिया है कृष्ण भजन लिरिक्स
  4. जनम तेरा बातों ही बीत गयो रे तुने कबहू ना कृष्ण कहो
  5. अवगुण चित ना धरो प्रभु मेरे भजन कृष्ण भजन लिरिक्स
  6. हरी दर्शन की प्यासी अखियाँ हिंदी भजन कृष्ण भजन लिरिक्स
  7. मैं बिना दाम की दासी हूँ हरि आ जाओ हरि आ जाओ कृष्ण भजन लिरिक्स
  8. तेरी चौखट ही किस्मत है मेरी श्याम भजन कृष्ण भजन लिरिक्स
  9. जहाँ जुटेंगे श्याम के प्रेमी करेंगे प्रेम पुकार आएंगे सांवलिया सरकार
  10. साँचा तेरा दरबार सांवरे भजन कृष्ण भजन लिरिक्स
  11. कन्हैया आया तेरे द्वार भजन कृष्ण भजन लिरिक्स
  12. कान्हा जी बड़ा प्यारा लगे कृष्ण भजन कृष्ण भजन लिरिक्स

Leave a Reply

Your email address will not be published.