Skip to content

दरबार मिला मुझको जो श्याम तुम्हारा है भजन कृष्ण भजन लिरिक्स

  • by
0 2265

दरबार मिला मुझको,
जो श्याम तुम्हारा है,
ये कर्म ना थे मेरे,
अहसान तुम्हारा है,
दरबार मिला मुझकों,
जो श्याम तुम्हारा है।।

कल दिन थे गरीबी के,
अब रोज दिवाली है,
किस्मत ये नहीं मेरी,
वरदान तुम्हारा है,
दरबार मिला मुझकों,
जो श्याम तुम्हारा है।।

ठुकराने वालों ने,
पलकों पे बिठाया है,
ये शान नहीं मेरी,
सम्मान तुम्हारा है,
दरबार मिला मुझकों,
जो श्याम तुम्हारा है।।

एक वक्त के मारे ने,
किस्मत को हरा डाला,
औकात न थी मेरी,
ये काम तुम्हारा है,
दरबार मिला मुझकों,
जो श्याम तुम्हारा है।।

निर्बल को अपनाना,
निर्धन के घर जाना,
ये शौक नहीं तेरा,
ये विधान तुम्हारा है,
दरबार मिला मुझकों,
जो श्याम तुम्हारा है।।

रोते को हँसता तू,
गिरते को उठाता तू,
सोनू तभी दीनदयाल,
पड़ा नाम तुम्हारा है,

दरबार मिला मुझकों,
जो श्याम तुम्हारा है।।

दरबार मिला मुझको,
जो श्याम तुम्हारा है,
ये कर्म ना थे मेरे,
अहसान तुम्हारा है,
दरबार मिला मुझकों,
जो श्याम तुम्हारा है।।

  1. मैंने पूछा हज़ारों बार मगर एक बार नहीं बोले भजन कृष्ण भजन लिरिक्स
  2. खाटू नगर जाना है हमें श्याम भजन कृष्ण भजन लिरिक्स
  3. हिंदी भजन संग्रह लिरिक्स | bhajan sangrah lyrics
  4. तेरा मेरा रिश्ता ऐसा तोड़े से ना टूटे भजन कृष्ण भजन लिरिक्स
  5. हारे का सहारा है हमें प्राणों से प्यारा है भजन कृष्ण भजन लिरिक्स
  6. क्यूँ भटकै मन बावरे क्यूँ तूं रोता है भजन कृष्ण भजन लिरिक्स
  7. दुनिया बनाने वाले वाह रे तेरी माया भजन कृष्ण भजन लिरिक्स
  8. Bhajan Lyrics: Bhajans – भजन लिरिक्स
  9. खाटू के श्याम बाबा दर्शन जरा करा दे भजन कृष्ण भजन लिरिक्स

Leave a Reply

Your email address will not be published.