Skip to content

दरबार तो एक ही है सांवल सरकार का है भजन श्याम जी भजन लिरिक्स

  • by
0 3216

दरबार तो एक ही है
सांवल सरकार का है
खाटू के नरेश का है
नीले पे सवार का है
दरबार तों एक ही है
सांवल सरकार का है।।

फिल्मी तर्ज भजन : होंठों से छु लो तुम।

क्यों भटके हजार जगह
मन एक पे अटका ले
इंकार नही करता
कल पे भी नही टाले
अभी मांग अभी ले जा
दिल ये दिलदार का है
दरबार तों एक ही है
सांवल सरकार का है।।

खाटू का श्याम धणी
जब कृपा अपार करे
जो आया वो राजी गया
पतझड़ में बहार करे
यहाँ जीत मिले सबको
मतलब नही हार का है
दरबार तों एक ही है
सांवल सरकार का है।।

मन में विश्वास लिए
आ श्याम शरण आ जा
दुनिया की परवाह कर
तू हो के मगन आ जा
यहाँ वहाँ ईधर क्या उधर
रुकना बेकार का है
दरबार तों एक ही है
सांवल सरकार का है।।

तू खोल जुबां प्यार
बाबा को पुकार तो ले
आएँगे जिस पथ से
पलको से बुहार तो ले
इतना सरल समझो
सौदा एतबार का है
दरबार तों एक ही है
सांवल सरकार का है।।

दरबार तो एक ही है
सांवल सरकार का है
खाटू के नरेश का है
नीले पे सवार का है
दरबार तों एक ही है
सांवल सरकार का है।।

  1. बाबा श्याम की हवेली ये है बड़ी अलबेली भजन श्याम जी भजन लिरिक्स
  2. किसको कहूँ मैं अपना किसको कहूँ पराया भजन श्याम जी भजन लिरिक्स
  3. नए साल की सबसे पहले तुम्हे बधाई डीयर कान्हा हैप्पी न्यू यर
  4. खाटू वाले सांवरिया तुम बिगड़ी बात बनाते हो भजन श्याम जी भजन लिरिक्स
  5. खाटू वाला साँवरिया भक्ता की अरज सुनो भजन श्याम जी भजन लिरिक्स
  6. श्याम ने है सब कुछ दिया अब तो मांगू यही भजन श्याम जी भजन लिरिक्स
  7. तू लीले चढ़के आजा तेरी बाट उड़िका घड़ी घड़ी श्याम जी भजन लिरिक्स

Leave a Reply

Your email address will not be published.