तू माँ शेरांवाली है जगदम्बे काली है भजन लिरिक्स

दुर्गा माँ भजन तू माँ शेरांवाली है जगदम्बे काली है भजन लिरिक्स
तर्ज :- तू कितनी अच्छी है

तू माँ शेरांवाली है जगदम्बे काली है,
पालनहारी है, ओ माँ ओ माँ

तू माँ शेरांवाली है जगदम्बे काली है
पालनहारी है, ओ माँ ओ माँ
ये जो दुनिया है खेल है माया का
तू तारण हारी है, ओ माँ ओ माँ ॥
तू माँ शेरांवाली …डूबने लागी है माँ मेरी नैया–2
आकर बचाले तू बनके खिवइया,
माँ किनारा दे, मुझे सहारा दे
तेरी शक्ति भारी है, ओ माँ ओ माँ ॥१॥
तू माँ शेरांवाली …

भूला दे माँ तू अवगुण मेरे–2
मैँ पापी हूँ खड़ा हूँ दर पे तेरे,
तू दर्शन दे, मेहर कर दे
खड़ा ये भिखारी है, ओ माँ ओ माँ ॥२॥
तू माँ शेरांवाली …

माँ बेटोँ की हर बात सुनती है–2
जब जब कष्ट मिले आकर हरती है,
तेरे चरणोँ मेँ, तेरे शरणोँ मेँ
‘खेदड़’ बलिहारी है,ओ माँ ओ माँ ॥॥३॥
तू माँ शेरांवाली …

तू माँ शेरांवाली है जगदम्बे काली है
पालनहारी है, ओ माँ ओ माँ ॥
ये जो दुनिया है खेल है माया का
तू तारण हारी है, ओ माँ ओ माँ ॥
तू माँ शेरांवाली …

Leave a Reply