Skip to content

तुझे मन के झरोखो से जब भी देखा है साँवरे भजन श्याम जी भजन लिरिक्स

  • by
0 3314

तुझे मन के झरोखो से
जब भी देखा है साँवरे
तुम पास नज़र आए
मेरे साथ नज़र आए
बंद करके झरोखो को
जरा बैठी मैं सोचने
मन में तुम्ही मुस्काए
मन में तुम्ही मुस्काए
तुझे मन के झरोखों से।।

फिल्मी तर्ज भजन : अँखियों के झरोखो से।

एक मन था मेरे पास जो
अब खोने लगा है
मोहन मेरे सपने तेरे
संजोने लगा है
एक तेरे भरोसे मैं
अब बैठी हूँ सांवरे
यूँ ही उम्र गुजर जाए
तेरे नाम गुजर जाए
तुझे मन के झरोखों से।।

जीती हूँ तुम्हें देख के
मरती हूँ तुम्हीं पे
तुम हो जहाँ मोहन मेरी
दुनिया है वहीं पे
दिन रात तुझे देखे
मेरा मन सोते जागते
मोहन मेरी उम्मीदों का
कभी फूल ना मुरझाए
तुझे मन के झरोखों से।।

जन्मों से तेरे रंग के
रंगों में रंगी हूँ
मैं जाग के सोई रही
नींदों में जगी हूँ
मोहन को मीरा से
कोई आके ना छीन ले
मन सोच के घबराए
यही सोच के घबराए

तुझे मन के झरोखों से।।

तुझे मन के झरोखो से
जब भी देखा है साँवरे
तुम पास नज़र आए
मेरे साथ नज़र आए
बंद करके झरोखो को
जरा बैठी मैं सोचने
मन में तुम्ही मुस्काए
मन में तुम्ही मुस्काए
तुझे मन के झरोखों से।।

  1. कभी फुर्सत हो धनवानो से श्याम भजन श्याम जी भजन लिरिक्स
  2. श्याम शीश मेरा तेरे कदम भजन श्याम जी भजन लिरिक्स
  3. खाटू वाला श्याम मेरे घर आया भजन श्याम जी भजन लिरिक्स
  4. top 10 bhagwan krishna bhajan lyrics
  5. खाटू वाले श्याम कस के पकड़ियो मेरा हाथ भजन श्याम जी भजन लिरिक्स
  6. अब आन मिलो मोहन तन्हाई नहीं जाती भजन श्याम जी भजन लिरिक्स
  7. मेरे गम को वो आ मिटाएगा श्याम मेरा आएगा श्याम जी भजन लिरिक्स

Leave a Reply

Your email address will not be published.