Skip to content

टाबरियो आयो है जो देणो है सो बाँट दे भजन कृष्ण भजन लिरिक्स

  • by
0 1947

टाबरियो आयो है,
जो देणो है सो बाँट दे,
टाबरियो आयो हैं जी,
बालकियो आयो हैं जी,
सेवकियो आयो है,
टाबरियो आयो हैं,
जो देणो है सो बाँट दे।।

खाटू नगरी आवे थारे,
लाखो ही नर नारी,
जय जयकार लगावे मिलकर,
जय हो श्याम बिहारी,
श्याम नाम की मस्ती में,
सब झूमे नाचे गावे,
बाबा थारे दर्शन कर,
भक्ता को मन हर्षावे,
भक्ता को मन हर्षावे,
टाबरियो आयो हैं,
जो देणो है सो बाँट दे।।

खाटू वालो सेठ सांवरो,
बैठ्यो माल लुटावे,
सारा ही भक्ता की बाबो,
झोली भरतो जावे,
जो ध्यावे खाटू वाले ने,
मुंह मांगे सो पावे,
खाटू वालो सांवरियो,
भक्ता के मन बस जावे,
भक्ता के मन बस जावे,
टाबरियो आयो हैं,
जो देणो है सो बाँट दे।।

देणो है तो दे दे म्हाने,
मत कर आना कानि,
दातारि दिखलाओ थारी,
थे हो शीश का दानी,
आशा लेकर आयो बाबा,
सुरेश राजस्थानी,
आस पुराओ थे ही म्हारी,
म्हे मूरख अज्ञानी,
म्हे मूरख अज्ञानी,

टाबरियो आयो हैं,
जो देणो है सो बाँट दे।।

टाबरियो आयो है,
जो देणो है सो बाँट दे,
टाबरियो आयो हैं जी,
बालकियो आयो हैं जी,
सेवकियो आयो है,
टाबरियो आयो हैं,
जो देणो है सो बाँट दे।।

Leave a Reply

Your email address will not be published.