Skip to content

जाने कितनो की किस्मत वहां जाके संवरी है भजन श्याम बाबा भजन लिरिक्स

  • by
0 2800

जाने कितनो की किस्मत
वहां जाके संवरी है
तिहुँ लोक में कोई और नहीं
मेरे बाबा की खाटू नगरी है।।

फिल्मी तर्ज भजन : जिसे देख मेरा दिल धड़का।

जबसे मैं खाटू जाने लगा
बदली है मेरी ये ज़िन्दगी
बाबा ने अपनी शरण में लिया
चरणों की मुझको मिली बंदगी
उलझन हो चाहे जैसी
यहाँ आके सुलझी है
तिहुँ लोक में कोई और नहीं
मेरे बाबा की खाटू नगरी है।।

खाटू की भूमि पावन बड़ी
करती है सारी सृष्टि नमन
बाबा का दर्शन पाने से
पावन हो जाता तन और मन
कुछ बात खाटू जी में
सारी दुनिया उमड़ी है
तिहुँ लोक में कोई और नहीं
मेरे बाबा की खाटू नगरी है।।

जिसका सहारा कोई नहीं
पग पग पे जिसके दुश्मन खड़े
बेबस बेचारे मजबूर जो
उनकी लड़ाई बाबा लाडे
मोहित भक्तों की बगिया
यहाँ खुशियों से निखरी है
तिहुँ लोक में कोई और नहीं
मेरे बाबा की खाटू नगरी है।।

जाने कितनो की किस्मत
वहां जाके संवरी है
तिहुँ लोक में कोई और नहीं
मेरे बाबा की खाटू नगरी है।।

  1. मंदिर लगी रौशनी बुझाऊँ कैसे मेरा रूठ गया सांवरिया श्याम बाबा भजन लिरिक्स
  2. कुछ दे या ना दे श्याम इस अपने दीवाने को भजन श्याम बाबा भजन लिरिक्स
  3. मेरे हुजूर मुझे बेहिसाब प्यार करो भजन श्याम बाबा भजन लिरिक्स
  4. मेरे श्याम का जग दीवाना है भजन श्याम बाबा भजन लिरिक्स
  5. तेरा दरबार यूँही सजता रहे भजन श्याम बाबा भजन लिरिक्स
  6. वो कौन है जिसने हम को दी पहचान है खाटू श्याम भजन श्याम बाबा भजन लिरिक्स

Leave a Reply

Your email address will not be published.